एयर इंडिया में 100% विनिवेश की तैयारी

एयर इंडिया में 100% विनिवेश की तैयारी
अमित शाह संभालेंगे एयर इंडिया की बिक्री की कमान
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । केद्र सरकार की तरफ से एयर इंडिया की पूरी सौ प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने की पेशकश कर सकती है।जिसको लेकर केद्रीय सरकार की तरफ से पिछले वर्ष जून में विनिवेश प्रक्रिया विफल होने के चलते नया प्रस्ताव पर ध्यान केद्रित की जा रही है।
इस बार केद्र सरकार एयर इंडिया की शत प्रतिशत यानि 100 प्रतिशत हिस्सेदारी बिक्री की पेशकश कर सकती है। जिसको लेकर केद्र सरकार का इरादा है कि एयर इंडिया की बिक्री प्रक्रिया दिसम्बर 2019 तक पूरा करने का है।केद्र सरकार ने 2018 में एयर इंडिया की 76 प्रतिशत हिस्सेदारी बिक्री तथा एयरलाइन के प्रबंधकीय नियंत्रण को लेकर निवेशकों से बोलियां आमंत्रित की थी।यह प्रक्रिया विफल रही थी और निवेशकों ने एयर इंडिया को खरीदने को लेकर बोली नहीं लगाई।जिसके बाद सलहाकार फर्म इवाई ने प्रक्रिया के विफल होने के कारणों पर एक रिपोर्ट तैयार की थी।जिसमें सरकार के एयर इंडिया में 24 प्रतिशत इक्विटी बनाए रखने,कंपनी पर भारी कर्ज,तेल की कीमतों में उतार चढाव,अर्थव्यवस्था की सुस्ती तथा निविदा में व्यक्तिगत भागीदारों पर पाबंदी को मुख्य वजह बताया गया था।बहरहाल अब केद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया के विनिवेश को लेकर पुनर्गठित मंत्रिसमूह की अध्यक्षता करेंगे।इनके अतिरिक्त मंत्रिसमूह में केद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण,वाणिज्य,उद्योग एवं रेल मंत्री पीयूष गोयल तथा विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी शामिल होंगे।इससे पहले एयर इंडिया के विनिवेश को लेकर 2017 में पहली बार मंत्रिसमूह का गठन हुआ था जिसमें अध्यक्ष तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली सहित अन्य चार सदस्यों में पिछले मोदी सरकार में विमानन मंत्री अशोक गजपति राजू,रेलमंत्री सुरेश प्रभु,कोयला एवं बिजली मंत्री पीयूष गोयल तथा सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी शामिल थे।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer