भागलपुरी सिल्क साड़ी में दिखेंगी एयर होस्टेस

भागलपुरी सिल्क साड़ी में दिखेंगी एयर होस्टेस
साड़ी के बुनकरों को मिलेगा बड़ा बाजार
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । एयर इंडिया की विमान सेवा में एयर होस्टेस अब भागलपुरी सिल्क की साड़ियां पहने नजर आएंगी।जिसके तहत एयर होस्टेस सुनहरे रंग की साड़ी पहनेंगी और साथ में ब्लाऊज का रंग लाल होगा।जिसको लेकर केन्दीय खादी ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के प्रस्ताव को एयर इंडिया के अधिकारियों ने स्वृकति दे दी है।जिसके तहत पहले चरण में एयर इंडिया को खादी ग्रामोद्योग आयोग से 13,220 साड़ियों की आपूर्ति की जाएगी।जिसके तहत साड़ियां मुख्य रुप से भागलपुरी एवं आसपास के क्षेत्रों में तैयार की जाएंगी।जिसके तहत एक भागलपुरी साड़ी की कीमत 4500रुपए होगी।जिसको लेकर भागलपुरी सिल्क की साडी से संबंधित तबकों को अभी से विशेष रुप से उत्सुकता बढ गई है और आगे की अच्छी कारोबारी संभावनाएं प्रतीत होने लगी है।
इस बाबत बिहार राज्य खादी बोर्ड के सीईओ बीएन प्रसाद की तरफ से कहा गया है कि एयर इंडिया में भागलपुरी सिल्क साड़ियों की आपूर्ति होने से बिहार के बुनकरों को बड़ा बाजार मिलेगा।जिससे भागलपुरी सिल्क साड़ियों का देश भर में प्रचार प्रसार अभियान का दायर बढेगा।बिहार में 15 खादी संस्थाओं द्वारा भागलपुरी सिल्क साड़ियों का उत्पादन किया जा रहा है। जिसमें मुख्य रुप से भागलपुरी,जमुई एवं बांका के केद्र शामिल है।
वहीं भागलपुर रेशम बुनकर खादी ग्रामोद्योग संघ के सचिव अलीम अंसारी ने कहा कि एयर इंडिया में साड़ियों की आपूर्ति का ऑर्डर मिलने से बिहार की खादली संस्थाओं को मजबूती मिली है।चूंकि इस प्रकार की साड़ियां देश के अन्य राज्यों में नहीं तैयार की जाती है।इन साड़ियों की बड़ी विशेषता है कि इसकी चमक लंबे समय तक बरकरार रहती है।ऐसे में लंबे समय तक चलती है और पुरानी होने के बावजूद रंग रंग खराब नहीं होता है।भागलपुरी सिल्क साड़ियां कोकून के धागों से तैयार की जाती है।यह साड़ियां पर्यावरण के अनुकूल होती है।इन्हें पहनने पर महिलाओं के शरीर में किसी प्रकार की प्रतिक्रिया (रिएक्शन) नहीं होती है।ऐसे में भागलपुर की सिल्क साड़ियां महिलाओं को पहनने में आरामदायक भी होती है।जिससे आगे भागलपुरी सिल्क की साड़ियों के उद्योग व्यापार के दिन बहुरने के आसार नजर आ रहे हø।ऐसे में भागलपुरी सिल्क की साड़ियों के क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर भी प्राप्त होंगे।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer