थोक रिटेल में ग्राहकी नीरस

हमारे संवाददाता
गत सप्ताह यहां की थोक व रिटेल कपड़ा मार्केटों में ग्राहकी नीरस चल रही है। सारग व त्योहारों के अभाव में ग्राहकी जोर नहीं पकड़ पा रही है। हर स्तर पर नाणातंगी के कारण भी व्यापार जोर नहीं पकड़ पा रहा है। व्यापारियों ने नजदीक के लोगों से उधार ले रखा है।  उसकी वापिसी भी नहीं हो पा रही है। रिटेलर्स मिलों की बुकिंग भी नहीं ज्यादा कर पा रहे है। अभी डेढ़-दो महीने जोरदार ग्राहकी नहीं चलने वाली है उसके लिए रिटेलर्स के पास माल पड़ा हुआ है। खाली वही मालों की बुकिंग कर रहे है जो डिस्काउंट पर मिल रहे है । कम्पिटिशन बहुत ज्यादा है। अभी जो माल बुक कर रहे है उसका भुगतान अच्छे व्यापारी महीना भर में चुकाएंगे। हल्के व्यापारी 3-4 महीने में कर पाएंगे। वह भी जब ग्राहकी अच्छी चलेगी। उपभोक्ता के हाथ में पैसे की तंगी बनी हुई है। दुकानदार के खर्च़ें भी बढ़े हुए है।
इस समय रेडीमेड व साड़ियों, लेडीज मालों में डिस्काउन्ट सेल चल रही है। 50-60 प्रतिशत तक आफर दिये जा रहे है। रेडीमेड में तो हर छोटे-बड़े स्टोर्स पर सेल चल रहे है। साड़ियों लेडीज मालों में सेल चल रही है।
सूटिंग में ग्राहकी कमजोर चल रही है। मिलें बुकिंग करने आ रही है। हालांकि अभी बहुत तेज बुकिंग नहीं मिल रही है। डिस्काउन्ट वाले मालों की बुकिंग जरूर अच्छी मिल रहा है। पीवी, पीसी, प्योर काटन, टीआर में टीएल, जोड़ी, सफारी में मांग सीमित चल रही है। यूनिफार्म में ग्राहकी अपेक्षानुसार नहीं चल रही है। मात्र 35-40 प्रतिशत माल ही बिक रहा है। मिलों में रेमंड, जेहेम्पसटेड, ग्रासिम, सियाराम, डोनियर, मयूर, बीएसएल, एस. कुमार्स के मालों में मांग रही। भीलवाड़ा की मुरारका, सिटीलाइन, बीडी के मालों में सीमित मांग रही।
शर्टिंग में ग्राहकी अच्छी है। पीवी, पीसी, प्योर काटन, लिनन में प्लेन चेक्स छोटे-बड़े सभी प्रकार के लाइनिंग में मांग रही। मिलों में जीसी टेक्स, जेहेम्पसटेड, सियाराम, मयूर, डोनियर में चेक्स व लाइनिंग में अच्छी रेंज प्रस्तुत की है।
साड़ियों में सावन की ग्राहकी सामान्य चल रही है। वर्क वाले मालों की मांग ज्यादा रही। लेडीज सूट्स में ग्राहकी अच्छी रही है।
काटन मालों में ग्राहकी सामान्य रही। बेडशीट्स, पापलीन, ब्लाउज पीस में ग्राहकी ठीक रही।
रेडीमेड में ग्राहकी ज्यादा अच्छी रही। ट्राउजर्स, जींस, कुर्तियों में अच्छी मांग रही। शर्ट, टी-शर्ट में ग्राहकी की मांग रही।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer