केरल में बाढ़ से इलायची की आवक थमी, भाव आसमान पर

मुंबई। केरल में बाढ़ से इलायची की खड़ी फसल को नुकसान होने एवं आवक अटकने से इसके भाव 4500 रुपए प्रति किलोग्राम पहुंच गए हैं। मसाला बोर्ड के मुताबिक शुरु में बारिश न होने और अब केरल में बाढ़ आने से इलायची की जोरदार तंगी देखी जा रही है। अगस्त 2018 की तुलना में इलायची के दाम 200% बढ़े हैं। इलायची रिटेल बाजार में 5550-6000 रुपए प्रति किलोग्राम पहुंच गई है। 
मसाला बोर्ड के मुताबिक छोटी इलायची का नीलामी में औसत भाव 13 अगस्त को 4465 रुपए प्रति किलोग्राम बोला गया। जबकि, अगस्त 2018 में यह भाव 1470 रुपए प्रति किलोग्राम था। केरल में यदि मौजूदा बाढ़ के हालात में सुधार नहीं होता है तो इलायची के दाम और बढ़ने से इनकार नहीं किया जा सकता। बता दें कि देश में 80% इलायची केरल से आती है। केरल के इदुकी और कोट्टयम जिलों से इसकी पूर्ति होती है। लेकिन दोनों जिले इस साल बाढ़ की चपेट में है। मसाला बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि इलायची के भावों में अप्रत्याशित उछाल आया है और अब यह 4000-4500 रुपए प्रति किलोग्राम बोली जा रही है जो पिछले एक दशक में सबसे ऊंचा भाव है। केरल में आई मौजूदा बाढ़ का लौंग एवं दालचीनी के दामों पर भी असर देखने को मिल सकता है।  
बता दें कि वर्ष 2019-20 (जुलाई-जून) में इलायची का उत्पादन दो दशक में सबसे कम 7-8 हजार टन होने का अनुमान है। केरल में पिछले साल आई बाढ़ से इलायची के पौधे नष्ट हो गए थे। इलायची का उत्पादन वर्ष 2018-19 में 12900 टन था।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer