ऊंचे भाव पर दालों में ग्राहकी का अभाव

ऊंचे भाव पर दालों में ग्राहकी का अभाव
अधिक आयात और उत्पादन से स्टॉक बढ़ा
हमारे संवददाता    
ऊंचे भाव पर दालों में थोक एवं खेरची ग्राहकी का अभाव बताया जा रहा है। चने में दाल मिलों की मांग से तेजी रही जिससे गत हप्ते बुधवार तक चना तेज होकर 4350 रु. रहा बताते है। वैसे भी एक सीमित मंदी के बाद सटोरिया -व्यापारियों की खरीदी पड़तल की होने से मंडियों में तेजी आने लगती है और यही कुछ स्थिति गत् हप्ते इंदौर की मंडियों में बनी। सभी दाल दलहन वर्ष 2017 की आलोच्य अवधि से लगभग 1500 से 2000 रु. तक भाव ऊंचे हुए है । महंगाई दुत गति से बढ़ती जा रही है। आवक का सीजन नहीं होने के बावजूद चने में मंदी का मुख्य कारण आयातित स्टॉक का भार और डंकी का डर भी है जिससे तेजी कर स्टाकिस्ट निकालते बताये जा रहे है। हालांकि काबुली चना डॉलर में आवक भाव उपजने से बढ़ रही बताया जा रहा जिससे भा गत् स्थिर से रहे। भाव 5600 रु. तक जाने के बाद अब इसमें स्थिरता में 5700 रु. तक रहा बताते है। दाल दलहनों में ऊंचे भाव पर ग्राहकी अभाव बताया रहा है फिर भी मांग अभाव में गत् हप्ते तुवर, उड़द और मोगर में कोई 50-100 रु. तक की तेजी थो क में हुई बताते है। उड़द की आवक कोई 500 बोरियों और काबुली चना की 2000 बोरियों की हो रही है।  दालों में अधिक मांग नहीं है। तुवॉर, मसूर और उड़द दालों में ग्राहकी का अभाव बताया गया है। मसूर में विगत् हप्तो में तेजी रही इससे भाव 4170-4200 रु. तक ऊंचे होने के बाद स्थिर रही। तुवॉर 5100 से 5400 निमाड़ी और महाराष्ट्र 6000 से 6100 उड़द बेस्ट में 5000 आर मध्यम में 4800, मूंग भारी उपर मजबूती में 5800 से 6000 रु. तक रहा। व्यापारियों के अनुसार अगले माह तक नई तुवॉर आने को है इससे तुवॉर एवं अन्य दलहनों में नरमी का प्रभाव लगातार बनने
लगेगा ऐसी संभावना है। हालांकि हाल फिलहाल ऊंचे भाव पर तुवॉर दाल फूल 8300 से 8400 और मार्केवाली का भाव 7900 रु. रहा। मूंग दाल ऊंचे भाव 7700 से 7800 ऊंचे में 8100 रु. तक और बेस्ट में  8300 रु. का भाव बताया गया है। रक्षाबंधन अवसर पर रिटेल में भारी ग्राहकी हुई।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer