वाणिज्य मंत्री के साथ निर्यातकों की 11 सितम्बर की बैठक में

वाणिज्य मंत्री के साथ निर्यातकों की 11 सितम्बर की बैठक में
यार्न, फैब्रिक्स, गार्म़ेंट व मेडअप्स के निर्यात बढ़ाने पर फोकस 
रमाकांत चौधरी 
नई दिल्ली-केद्र सरकार की तरफ से यार्न, फैब्रिक, गारमेंट व मेडअप्स के निर्यात को बढाने देने को लेकर विशेष रुप से सक्रिय हो रखी है।जिसको लेकर केद्रीय वाणिज्य मंत्री के साथ निर्यातकों की 11 सितम्बर 2019 को अहम बैठक नई दिल्ली में होगी। जिसको लेकर केद्रीय वाणिज्य मंत्री के साथ भारतीय निर्यातकों की तरफ से यार्न, फैब्रिक्स, गारमेंट व मेडअप्स के निर्यात को बढाने को लेकर विस्तार पूर्वक विचार विमर्श किया जाएगा।जिसमें भारतीय निर्यातकों की तरफ से यार्न, फैब्रिक, गारमेंट व मेडअप्स को लेकर अहम सुझाव दिए जाएंगे। जिस पर केद्रीय वाणिज्य मंत्री गंभीरता पूर्वक नीतिगत कदम उठाने को लेकर सक्रिय होंगे।जिससे कि यार्न, फैब्रिक्स, गारमेंट व मेडअप्स के निर्यात बढाने का मार्ग प्रशस्त हो सकेगा। जिससे टेक्सटाइल सेक्टर के निर्यात के मोर्चे पर सकारात्मक रुख बन पाएगा।  
दरअसल पिछले कुछ महीने से यार्न, फैब्रिक्स, गारमेंट व मेडअप्स जैसे कपड़ा क्षेत्रों के निर्यात मोर्चे पर मंदी की आवोहवा  है।जिसको लेकर भारतीय निर्यातकों की तरफ से कहा जा रहा है कि बंगलादेश, वियतनाम, इंडोनेशिया जैसे देशों से भारतीय गारमेंट व मेडअप्स के निर्यात के मोर्चे पर भारी प्रतिस्पर्धा करना पड़ रहा है और भारतीय निर्यातक वैश्विक बाजार में निर्यात के मोर्चे पर कतईा टिक नहीं पा रहे है। जिससे कपड़ा क्षेत्र के निर्यात मेर्च पर मंदी की छाया है। जिसको लेकर भारतीय निर्यातकों ने केद्र सरकार की तरफ से एक तरफ यार्न,फैब्रिक्स सहित गारमेंट व मेडअप्स के निर्यात पर नई रिबेट यानि स्टेट एण्ड सेन्ट्रल टैक्सेस एण्ड लेवीज (आरओएससीटीएल) देने की गुजारिश की जा रही है।वहीं दूसरी तरफ भारतीय निर्यातकों की तरफ से सभी तरह के इनपुट टैक्स पर रिफंड जारी करने को लेकर आग्रह करते आ रहे है।ऐसे में केद्र सरकार की तरफ से अब भारतीय कपड़ा-परिधान क्षेत्र के निर्यात को बढावा देने को लेकर विशेष रुप से सक्रिय हो गई है।जिसको लेकर केद्रीय वाणिज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल के साथ भारतीय निर्यातकों की अग्रणी प्रतिनिधियों की 11 सितम्बर 2019 को नई दिल्ली में एक अहम बैठक होगी।जिसमें भारतीय यार्न,फैब्रिक,कपड़ा एवं परिधान निर्यात को बढावा देने को लेकर विस्तार पूर्वक चर्चा की जाएगी। जिसमें भारतीय यार्न, फैब्रिक, कपड़ा एवं परिधान के निर्यातकों के अग्रणी प्रतिनिधि मंडल की तरफ से निर्यात से संबंधित अपनी विभिन्न समस्याओं के समाधान को लेकर अहम सुझाव देंगे। जिस पर केद्रीय वाणिज्य मंत्री श्री पीयूष गोयल विशेष रुप से गौर फरमाएंगे और आगे सभी तरह की सहूलियत देने को लेकर कारगर कदम उठाए जाएंगे। जिससे के यार्न, फैब्रिक, कपड़ा-परिधान के निर्यात के मोर्चे पर भारतीय निर्यातकों को सहूलियत होगी। जिससे स्वभाविक है कि यार्न, फैब्रिक्स, गारमेंट व मेडअप्स के निर्यात बढाने का मार्ग प्रशस्त हो सकेगा। जिससे यार्न,फैब्रिक सति कपड़ा व परिधान के निर्यात मोर्चे पर सकारात्मक रुख बनेगा। जिससे कपड़ा सेक्टर से संबंधित कामगारों को रोजगार के अवसर बन रहेंगे।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer