मोटे अनाज व कपास की बोआई में इजाफा

मोटे अनाज व कपास की बोआई में इजाफा
तिलहन-दहलन की बोआई में सुधार
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली ।  ऐसे में पिछले खरीफ फसल मौसम की तुलना में चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक दलहनों की बोआई 2.59 लाख हेक्टेयर कम क्षेत्रों में ही हो पाई है।हालांकि पिछले दिनों की वनस्पत दलहनों की बोआई अपेक्षाकृत सुधरी है।चालू खरीफ फसल मौसम के तहत अब तक मोटे अनाज की बोआई 175.27 लाख हेक्टेयर में हो गई है।बहरहाल पिछले खरीफ फसल मौसम के तहत इसी अवधि में मोटे अनाज की बोआई 172.50 लाख हेक्टेयर में ही हो पाई थी।जिससे पिछले खरीफ फसल मौसम की तुलना में चालू खरीफ मौसम में अब तक मोटे अनाज की बोआई 2.77 लाख हेक्टेयर अधिक क्षेत्रों में हो गई है।चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक तिलहनों की बोआई 173.34 लाख हेक्टेयर में ही हो पाई है।बहरहाल पिछले खरीफ फसल मौसम के तहत इसी अवधि में तिलहनों की बोआई 173.55 लाख हेक्टेयर में हो गई थी।ऐसे में पिछले खरीफ फसल मौसम की तुलना में चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक तिलहनों की बोआई सिर्फ 20 हजार हेक्टेयर कम क्षेत्रों में ही हो पाई है।ऐसे में पिछले कुछ अर्से के तहत तिलहनों की बोआई पूर्व की तुलना में अपेक्षाकृत सुधरी है। चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक गन्ना की बोआई 52.45 लाख हेक्टेयर में ही हो पाई है।बहरहाल पिछले खरीफ फसल मौसम के तहत इसी अवधि में गन्ना की बोआई 55.51 लाख हेक्टेयर में हो गई थी।ऐसे में पिछले खरीफ फसल मौसम की तुलना में चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक गन्ना की बोआई 3.06 लाख हेक्टेयर कम क्षेत्रों में ही हो पाई है।चालू खरीफ फसल मौसम के तहत अब तक जूट व पटसन की बोआई 6.84 लाख हेक्टेयर में ही हो पाई है।बहरहाल पिछले खरीफ फसल मौसम के तहत इसी अवधि में जूट व पटसन की बोआई 7.20 लाख हेक्टेयर में हो गई थी।ऐसे में पिछले खरीफ फसल मौसम की तुलना में चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक जूट व पटसन की बोआई 37 हजार हेक्टेयर कम क्षेत्रों में ही हो पाई है। वहीं चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक कपास की बोआई 125.86 लाख हेक्टेयर में हो गई है।बहरहाल पिछले खरीफ फसल मौसम के तहत इसी अवधि में कपास की बोआई 118.10 लाख हेक्टेयर में ही हो पाई थी।ऐसे में पिछले खरीफ फसल मौसम की तुलना में चालू खरीफ फसल मौसम में अब तक कपास की बोआई 7.76 लाख हेक्टेयर अधिक क्षेत्रों में हो गई है। ऐसे में ताजा हालात को देखते हुए देश भर में चालू खरीफ फसल मौसम को लेकर कुल मिलाकर मौसम अनूकूल है जिससे खरीफ खाद्यान्न जिंसों की उपज बढने की उम्मीद अभी से बढ गई है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer