नकद निकासी पर दो प्रतिशत टीडीएस

नकद निकासी पर दो प्रतिशत टीडीएस
विभिन्न राज्यों के व्यापारी संघर्ष के मूड में
व्यापार टीम
राजकोट, मुंबई। एक करोड़ रु. से अधिक की नकद निकासी पर दो प्रतिशत टीडीएस लागू करने के नए नियम के खिलाफ गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के व्यापारी संगठित हुए है। उसके विरोध में सौराष्ट्र-गुजरात के मार्केट यार्ड और महाराष्ट्र के अनेक एपीएमसी बाजार बंद रहें।
कृषि बाजारों में 1 सितम्बर से लागू इन नियम के विरोध में गुजरात, राजस्थान और मध्य प्रदेश की मंडियां 3 दिन बंद रही।
सूत्रों के अनुसार गांव के किसान कृषि उत्पादों की कीमत का भुगतान नकदी में लेने का आग्रह रखते ह क्योंकि गांवों में अभी आरटीजीएस या एनईएफटी की सुविधा तीव्र नहीं है तथा बक भी कम है।
व्यापारियों का कहना है कि हमारा इतना मुनाफा नहीं है जितना टैक्स भरेंगे और वर्ष का एक करोड़ टर्नओवर सरलता से हो जाता है।
दाणाबंदर के विश्लेषक देवेद्र वोरा ने कहा कि इस संबंध में उच्च स्तर पर अनुरोध किया गया है, लेकिन अभी सरकार की ओर से कोई प्रतिसाद नहीं आया है। सरकार को ऐसा निर्णय लेने से पहले व्यापारियों को विश्वास में लेना चाहिए।
सरकार को इसका व्यावहारिक समाधान खोजना चाहिए। किसानों के डिजिटल प्रक्रिया से अवगत होने और बøकिंग की पर्याप्त सुविधा खड़ी होने तक उसका अमल चरणबद्ध होना चाहिए। हकीकत में कृषि उत्पादों को इस कानून से मुक्ति मिलनी चाहिए।
सौराष्ट्र के व्यापारियों का विरोध पिछली तारीख से टीडीएस लागू करने के मुद्दे का है। कमीशन एजेंट और व्यापारी चाहते ह कि सरकार 1 सितम्बर से इसे लागू करे।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer