निर्यात प्रतिबंध से घटी प्याज की कीमत

निर्यात प्रतिबंध से घटी प्याज की कीमत
सरकारी गोदामों में 25 हजार टन प्याज का स्टॉक
हमारे संवाददाता
प्याज की महंगाई थामने को लेकर मोदी सरकार ने कई कारगर उपाय किए है।जिससे कई शहरों में प्याज की कीमत घटने लगी है।जिसको लेकर केद्रीय उपभोक्ता मामले व खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि सरकारी गोदामों में कुल 58 हजार टन प्याज का उस्टॉक था जिसमें से 18 हजार टन प्याज राज्यों ने खरीद लिया है।वहीं 25 हजार टन प्याज अभी भी बचा हुआ है।वहीं सरकारी एजेंसी नैफेड के गोदामों में ही 15 हजार टन प्याज सड़ गया।
उन्होंने कहा कि प्याज के निर्यात को प्रतिबंधित कर दिया गया हैजिससे जिंस बाजारों में प्याज की कीमतें घटी है। जमाखोरों के खिलाफ छापेमारी की कार्यवाही शुरु कर दी गई है।प्याज की स्टॉम सीमा निर्धारित कर दी गई है।पिछले कुछ सप्ताह तक देश के विभिन्न शहरों में प्याज की कीमत 60 रुपए 70 रुपए प्रति किलो थी बहरहाल सरकारी सख्ती के चलते अब प्याज की कीमतें इससे नीचे आई है।वहीं नेफेड के गोदामों में रखा प्याज के सड़ने के बारे में पूछे सवाल पर उन्होंने कहा कि रखे रखे प्याज सूख गया।अभी भी हमारे स्टॉक में 25 हजार टन प्याज हैजो कि राज्य चाहें खरीद सकते है।महाराष्ट्र में प्याज की थोक मंडी लासलगांव में प्याज 30 रुपए किलो के नीचे आ गयाह z।सितम्बर मध्य तक नासिक में भी प्याज 51 रुपए किलो तक बिक रहा था।प्याज की कीमतें राजनीतिक रुप से बहुत संवेदनशील होती है।ऐसे में प्याज की कीमतों के बढने और फिर सरकारी उपायों को लेकर उत्पादक राज्य महाराष्ट्र में किसानों ने आंदोलन शुरु कर दिया।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer