बीयूवीएम के बैनर तले व्यापारी एवं उद्यमी लामबंद

बीयूवीएम के बैनर तले व्यापारी एवं उद्यमी लामबंद
व्यापार बचाओ अभियान से शीघ्र होगा आंदोलन का आगाज
नई दिल्ली दिल्ली के व्यापार उद्योग जगत में लंबी अवधि से चली आ रही बाधाओं और इससे व्यापारी व उद्यमी को हो रही परेशानियों से निपटने को लेकर भारतीय उद्योग व्यापार मंडल (बीयूवीएम) अपनी दिल्ली की इकाई को और सशक्त बनाने को लेकर 26 नवम्बर 2019 को पुनर्गठन किया गया है।ऐसे में बीयूवीएम के बैनर तेल दिल्ली के व्यापारी और उद्यमी अब दिल्ली का व्यापार बचाओं अभियान को लेकर लामबंद हो रहे है और आगे यथाशीघ्र आंदोलन का आगाज शुरु किया जाएगा।    
इस मौके पर बीयूवीएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री श्याम बिहारी मिश्र ने कहा कि दिल्ली की सभी प्रमुख व्यापारिक संगठनों के प्रधान,महामंत्री नवगठित संस्था के उपाध्यक्ष होंगे।इसके साथ ही प्रत्येक संस्था से तीन तीन सदस्यों को नियुक्त किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नवगठित कार्यकारिणी दिल्ली व सभी व्यापारिक एवं औद्योगिक समस्याएं जैसे कि सीलिंग,कंवर्जन चार्जेज, ऑनलाइन ट्रेडिंग, जीएसटी,कानून व्यवस्था,प्रदूषण,चांदनी चौक का पुनर्विकास सहित अन्य बाजारों पर उपजी समस्याओं के साथ साथ खाद्य सुरक्षा अधिनियम की विसंगतियों से उपजी समस्याओं के निदान की रुपरेखा तैयार करेगी।उन्होंने कहा कि दिल्ली में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए यहां के बाधा मुक्त व्यापार एवं विकास के कार्यक्रमों के बिन्दुओं में दिल्ली की तीनों राजनैतिक पार्टियां भाजपा,कांग्रेस,आप को ज्ञापन देकर अपने चुनाव घोषणा पत्र में सम्मलित करने का आग्रह करेगी। ऐसे में यदि आवश्यक हुआ तो समस्या विशेष को लेकर व्यापारी व उद्यमी सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने से परहेज नहीं करेंगे।वहीं बीयूवीएम के राष्ट्रीय महामंत्री श्री विजय प्रकाश जैन ने कहा कि व्यापारी व उद्यमी का देश की अर्थव्यवस्था एवं वितरण व्यवस्था का सर्वोपरि योगदान देता है।जिसको लेकर समय रहते सरकार इन्हें चिन्हित करते हुए बाधा मुक्त व्यवस्था एवं विकास की योजनाएं बनाएं।इस दिशा में केद्र सरकार ने पेंशन योजना,दुर्घटना बाम,खुदरा व्यापार नीति एवं राष्ट्रीय व्यापारी कल्याण बोर्ड आदि की घोषणा की है।
उल्लेखनीय है कि इस बैठक में कपड़ा, गल्ला, किराना, सूखा मेवा,पेपर,इलेक्ट्रिक,मोटर पार्ट्स, तिरपाल, बुलियन, रंगरसायन आदि लगभग 50-60 व्यापारिक व औद्योगिक प्रनिनिध्यों ने शिरकत की थी।जिसमें विशेष रुप से अरुण सिंद्यानिया, नरेश गुप्ता,भरत आहूजा,रविद्र अग्रवाल,विजय सेठी,महेश सिंघल,तुरुण गुप्ता,श्रीभगवान बंसल,संदीप भारद्वाज,मोहिन्दर अग्रवाल,राजेश गर्ग, आलोक जैन,अजय अरोड़ा,दलीप बिन्दल,पवन कुमार,ललित अग्रवाल,नंद किशोल बंदल,योगेन्द गोयल आदि चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि निश्चित ही दिल्ली के व्यापार उद्योग को बचाने एवं विकास के लिए एक मजबूत सक्रिय एवं प्रभावी संगठन को एकजुट करने और आज के आईटी युग में सोशल मीडिया के सशक्त माध्यम से व्यापारिक हितों के लिए अधिकाधिक उपयोग करने की आवश्यकता है।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer