रिलायंस बनी रु. 10 लाख करोड़ वाली देश की पहली कंपनी

रिलायंस बनी रु. 10 लाख करोड़ वाली देश की पहली कंपनी
विश्व की प्रमुख 10 कंपनियों की कतार में शामिल
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । एशिया की सबसे बड़े धनकुबेर मुकेश अंबानी के नियंत्रण वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआइएल) भारतीय इतिहास में 10 लाख करोड़ रुपए मूल्य का आंकड़ा छूने वाली पहली कंपनी बन गई है।जिसके तहत पिछले सप्ताह शेयर बाजारों में दो कारोबारी सत्रों में कंपनी का प्रदर्शन दमदार रहा।जिसके चलते 28 नवम्बर 2019 को कारोबार के अंत में बीएसई में रिलायंस का बाजार पूंजीकरण बढकर 10,01,555.82 करोड़ रुपए पर पहुंच गया।ऐसे में आरआइएल विश्व की प्रमुख 10 कंपनियों की कतार में शामिल हो गई है।
दरअसल बीएसई में आरआइएल के शेयर 28 नवम्बर 2019 को इंट्रा-डे में 0.90 प्रतिशत उछलकर 1584 रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गए।हालांकि गत सप्ताह के शुरुआत से ही कंपनी के शेयर 10 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा पार करने की तैयार थी।कंपनी के शेयरों का इस वर्ष का प्रदर्शन इतना दमदार रहा है कि बीएसई ने एक तरफ इस वर्ष अब तक लगभग 14 प्रतिशत का रिटर्न दिया है वहीं आरआइएल के शेयरों ने अपने निवेशकों को इससे लगभग तीन गुना रिटर्न दिया है।यद्यपि पिछले महीने ही आरआइएल ने नौ लाख करोड़ रुपए बाजार पूंजकरण का आंकड़ा पार किया था।नौ लाख करोड़ रुपए से 10 लाख करोड़ रुपए का आंकड़ा पार करने में रिलायंस ने सिर्फ 27 कारोबारी सत्र लिए।उल्लेखनीय है कि कंपनी ने चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जूलाई-सितम्बर 2019) के लिए 11,262 करोड़ रुपए का रिकॉर्ड मुनाफा कमाया था।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer