बैंकों को राहत देने हेतु बड़ी योजना की कवायद

बैंकों को राहत देने हेतु बड़ी योजना की कवायद
एनपीए से राहत के लिए विशेष फंड शीघ्र 
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । केद्र सरकार की तरफ से बैंककिंग क्षेत्र को राहत देने के लिए बड़ी योजना तैयार की जा रही है।जिसके तहत बैंककिंग क्षेत्र को फंसे कर्ज (एनपीए) से राहत दिलाने के लिए केद्र सरकार की तरफ से स्ट्रेस एसेट फंड योजना लाने की संभावन है।
दरअसल इस योजना को यथाशीघ्र अमल में लाने को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई),प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ),केद्रीय वित्त मंत्रालय,नीति आयोग के बीच कई कई दौर की बैठकें हो चुकी है।जिसको लेकर कहा जा रहा है कि इस योजजना की घोषणा शीघ्र होने की संभावना है।इस स्ट्रेस एसेट फंड को लोने का लक्ष्य बैंककिंग क्षेत्र में फंसे हुए कर्ज (एनपीए) को खरीदना फिर उनको बेचकर पैसा जुटाना है।इसका बड़ा फायदा यह होगा कि बेंकों की वित्तीय स्थिति मजबूत होगी।ऐसे में बेंकों से एनपीए का बोझ कम होगा।इससे बैंककों को कर्ज देने की क्षमता में वद्वि होगी और देश की अर्थव्यवस्था में तरलता बढेगी।उल्लेखनीय है कि लगभग एक दशक पहले अमेरिका में भी इसी तरह की योजना बैंककिंग क्षेत्र को मजबूत करने के लिए लाई गई थी।चूंकि बैंकों के फंसे कर्ज में लगातार बढोतरी हो रही है।जिसको लेकर एक रिपोर्ट में कहा गया है कि अभी 44 सूचीबद्व बेंकों का कुल एनपीए लगभग 9.27 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया है।जिसको लेकर आरबीआई ने हाल ही में मुद्रा योजना के तहत बढते एनपीए पर बैंकों को चेतावनी दिया है।जिसके तहत बढते एनपीए को कम करने के लिए केद्र सरकार की तरफ से दिवालिया कानून लाई थी।

© 2019 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer