ƒ 8 लाख करोड़ के टैक्स विवाद से मिलेगी निजात

ƒ 8 लाख करोड़ के टैक्स विवाद से मिलेगी निजात
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । केद्र सामने के समक्ष राजकोषीय घाटे की खाई को कम करना बहुत बड़ी चुनौती है।ऐसे में अब आम बजट में की तैयारी जोरों पर है।जिसके तहत केद्र सरकार की तरफ आम बजट में पुराने टैक्स विवाद को समाप्त करने के लिए एक स्कीम लेकर आ सकती है।जिस स्कीम के तहत कॉर्पोरेट पर जो पुराने विवादित टैक्स बकाए हø जिसको लेकर टैक्स विभाग एक मुश्त रकम लेकर विवाद समाप्त कर देगा।जिससे कॉपोरेट सेक्टर को लेकर यह बहुत बड़ी राहत होगी।
दरअसल कॉर्पोरेट सेक्टर में पुराने टैक्स विवाद के लगभग 5 लाख मामले लंबित हø और कुल विवादित रकम लगभग 8 लाख करोड़ रुपए का है।ऐसे में इस सकीम के तहत यदि इस विवाद का हल हो जाता है तो केद्र सरकार राजकोषीय घाटे के लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर लेगी और कॉर्पोरेट सेक्टर को लेकर विवाद से राहत मिलेगी।वहीं कॉर्पोरेट सेक्टर को लेकर पुराने विवाद सर्विस टेक्स और एक्साइज डृयूटी मामले के समाधान को लेकर केद्र सरकार सबका विश्वास स्कीम लेकर आई थी।जिस स्कीम से केद्र सरकार ने 30 हजार करोड़ रुपए की कमाई की है।ऐसे में संभवत: आम बजट में एक बार फिर से कॉर्पोरेट सेक्टर को लेकर इस तरह की स्कीम लाई जाएगी।जिसको लेकर सेन्ट्रल बोर्ड और डायरेक्ट टेक्सेज (सीबीडीटी) फरवरी 2019 में डायरेक्ट टैक्स विवाद को दूर करने के लिए एक समिति का भी गठन किया था।जिसको लेकर इस रिपोर्ट के तहत लगभग 8 लाख करोड़ रुपए का डायरेक्ट टैक्स विवादों में फंसा हुआ है।ऐसे में इस रिकॉर्ड के तहत टैक्स विभाग 65 प्रतिशत मामला हार जाता है।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer