ओएनजीसी को मिली 50 तेल-गैस क्षेत्रों के लिए 28 बोलियां

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । सरकारी क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनी ओएनजीसी को 64 छोटे और सीमांत तेल और गैस क्षेत्रों में से 50 के लिए बोलियां मिली है।इस प्रक्रिया का उद्देश्य निजी कंपनियों को शामिल कर उत्पादन बढाना है।जिसको लेकर कहा जा रहा है कि 17 जनवरी 2020 को समाप्त बोली प्रक्रिया में 12 कंपनियों ने 50 क्षेत्रों के लिए 28 बोलियां लगाई है।जिसके तहत ओएनजीसी ने 64 तेल एवं गैस क्षेत्रों को 17 तटवर्ती अनुबंध क्षेत्र में विभाजित किया था।इन स्थानों पर लगभग 30 करोड़ टन तेल तथा तेल के बराबर गैस मौजूद है।जिसको लेकर कहा जा रहा है कि 14 कलस्टरों (अनुबंध क्षेत्र) के लिए 28  बोलियां मिली हैजिसमें 50 तेल एवं गैस क्षेत्र शामिल है।वहीं तीन कलस्टरों के लिए कोई बोली नहीं मिली है।जिसके तहत दुगांता ऑयल एण्ड गैस प्राइवेट लिमिटेड ने चार बोलिया जमा की।वहीं उड़ीसा स्टीवडोर्स लिमिटेड, प्रिसर्व इंफ्रास्ट्रक्चर प्राइवेट लिमिटेड और उदयन ऑयल सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड ने तीन-तीन बोलिया जमा की है।जिसे राजस्व बंटवारे के आधार पर ठेकेदार (अनुबंधकर्ता) का चयन किया जाएगा।इस अनुबंध की अवधि 15 वर्ष की होगी और इसे पांच वर्ष के लिए बढाया जा सकता है।ओएनजीसी ने उत्पादन वृद्वि अनुबंध (पीईसी) के तहत इच्छुक कंपनियों से बोली आमंत्रित की थी।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer