चालू वित्त वर्ष के प्रथम नौ माह में यात्री वाहन का निर्यात 6% बढ़ा

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । देश में यात्री वाहनों का निर्यात चालू वित्त वर्ष के प्रथम नौ महीनों (अप्रैल-दिसम्बर 2019) के तहत 5.89 प्रतिशत बढकर 5,40,384 इकाइयों पर पहुंच गया।जिसको लेकर ऑटोमोबइल्स मैन्युफैक्चरर्स के संगठन सियाम के आंकड़ा में कहा गया है कि इस अवधि में हुंडई मोटर ले सबसे अधिक 1.45 लाख यात्री वाहनों का निर्यात किया।
सियाम के आंकड़ों के तहत चालू वित्त वर्ष के प्रथम नौ महीनों में यात्री वाहनों का निर्यात 5,40,384 ईकाई था।जिसके तहत कारों का निर्यात 4.44 प्रतिशत बढकर 4,04,552 इकाइयों पर पहुंच गया।वहीं यूटिलिटी वाहनों का निर्यात 11.14 प्रतिशत की वृद्वि के साथ 1,33,511 इकाइयां रहा।वैन का निर्यात 17.4 प्रतिशत घटकर 2,810 इकाई से 2321 इकाई पर आ गया।दक्षिण कोरिया की कंपनी ने समीक्षाधीन अवधि में 1,44,982 यात्री वाहनों का निर्यात किया।यह इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि से 15.17 प्रतिशत अधिक है।भारत में निर्मित वाहनों की कंपनियां अफ्रीका,पश्चिम एशिया,लैटिन अमेरिका,ऑस्ट्रेलिया औम्र एशिया प्रशांत क्षेत्र के 90 देशों को निर्यात करती है।जिसको लेकर र्हंडई  मोटर इंडिया के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस एस किम ने कहा कि कुल 1,44,982 इकाइयों के निर्यात अ ा‰र 26.8 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी के साथ हुंडई ने एक बार फिर निर्यात बाजार में अपना अग्रणी स्थान कायम रखा गया है।अपने शानदार प्रदर्शन करने वाले ब्रांड्स के जरिए निर्यात बाजार में कंपनी का दबदवा बना हुआ है।वहीं अप्रैल-दिसम्बर की अवधि में फोर्ड इंडिया का निर्यात 12.57 प्रतिशत घटकर 1,06,084 इकाई रह गया।जबकिज घरेलू कार बाजापर की अग्रणी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया का निर्यात 1.7 प्रतिशत घटकर 75,948 इकाइयां रह गया।वहीं समीक्षाधीन अवधि में निसान मोटर इंडिया का निर्यात 39.97 प्रतिशत बढकर 60,739 इकाई पर पहुंच गया।जनरल मोटर इंडिया का निर्यात 54,863 इकाइयों का रहा। जनरल मोटर ने घरेलू बाजार में गाड़ियों की बिक्री बंद कर दी है।अप्रैल-अदिसम्बर फॉक्सवैगन इंडिया का निर्यात 47.021 इकाई रहा।किया मोटर्स इंडिया का निर्यात 12,496 इकासई और रेनॉ इंडिया का 12,096 इकाइयां रहा।घरेलू वाहन कंपनी महिद्रा एण्ड महिद्रा का निर्यात 10,017 इकाइयां रहा।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer