लेडीज-सूट व दुपट्टा की काटन किस्मों में ग्राहकी बढ़ी

लेडीज-सूट व दुपट्टा की काटन किस्मों में ग्राहकी बढ़ी
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । साड़ियां,लहंगा चुनरी,लांचा,क्रेप-टॉप,ग्राउन में वैवाहिक मौसम को लेकर थोक कारोबारी गतिविधियां जोरों पर चल रही है और आगे थोक कारोबार को लेकर बेहतर संभावनाएं बनी हुई है।जिसको लेकर दिल्ली के चांदनी चौक स्थित मालीवाड़ा-संतोष मार्केट की थोक कारोबारी प्रतिष्ठान एम.ए.क्रिएशन्स के बिजनेस संचालक श्री सुशील अरोड़ा ने बताया कि लहंगा चुनरी में बिहार-उत्तर प्रदेश के लिए वैवाहिक मांग खुल रखी है बहरहाल थोक कारोबार खुलकर अभी तक चलायमान नहीं हो पाई है।यद्यपि लहंगा चुनरी में थोक कामकाज अगले महीने बेहतर चलने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि हमारे यहां लहंगा चुनरी 4000/6000 रुपए में दिल्ली-एनसीआर सहित बिहार एवं उत्तर प्रदेश की मांग है और आगे कामकाज का दायरा बढने की उम्मीद है।उन्होंने आगे बताया कि साड़ियों की तरह लहंगा चुनरी पर जीएसटी की दर एक समान 5 प्रतिशत आरोपित किया जाए ताकि लहंगा चुनरी का थोक कारोबार सुचारु पूर्वक चलायमान हो सकेगा।उन्होंने बताया कि इस समय एक हजार रुपए से अधिक की लहंगा चुनरी पर 12 प्रतिशत जीएसटी आरोपित है जिससे पड़ोसी राज्यों के छोटे व्यापारी खरीदी करने को नहीं आते हैं।जिससे लहंगा चुनरी का थोक कामकाज प्रभावित हो रहा है।वहीं दिल्ली के नई सड़क स्थित चीराखाना की थोक कारोबारी प्रतिष्ठान वर्धमान इंटरप्राइजेज के श्री अशोक जैन ने बताया कि सूरत की मशीनमेड फींसी एम्ब्राइडरीयुक्त साड़ियां,लहंगा चुनरी में थोक कारोबारी गतिविधियां खुल चुकी है और अगले महीने थोक कामकाज बेहतर चलने की उम्मीद है।उन्होंने बताया कि हमारे यहां सूरत की सिंथेटिक्स साड़ियां प्रिंटेड 200/1000 रुपए तथा सूरत की सिंथेटिक्स साड़ियां एम्ब्राइडरीयुक्त 500/2000 रुपए में वैवाहिक मांग खुल चुकी है और आगे कामकाज अच्छा चलने की उम्मीद बनी हुई है।वहीं सूरत की मशीनमेड फैशनेबल व डिजाइनर एम्ब्राइडरीयुक्त लहंगा चुनरी में वैवाहिक मांग खुल रखी है।जिसमें आगे कामकाज का दायरा बढने की उम्मीद बनी हुई है।उन्होंने आगे बताया कि हमारे यहां सूरत की सिंथेटिक्स साड़ियां एवं एम्ब्राइडरीयुक्त लहंगा चुनरी में दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर प्रदेश,हरियाणा के ग्रामीण क्षेत्रों व छोटे कस्बों की मांग सर्वाधिक होती है।वहीं दिल्ली के चांदनी चौक स्थित मालीवाड़ा की गली छिपीयान-श्रीराम मार्केट की थोक कारोबारी प्रतिष्ठान सरदारीलाल एण्ड संस के युवा बिजनेस संचालक श्री अतुल रुस्तुगी एवं श्री निशांत रुस्तुगी ने बताया कि हमारे यहां सूरत की सिंथेटिक्स मशीनमेड एम्ब्राइडरीयुक्त साड़ियां 600/3000 रुपए तथा लहंगा चुनरी एवं लांचा 1000/5000 रुपए में दिल्ली-एनसीआर सहित उत्तर प्रदेश,बिहार व हरियाणा की थोक कारोबारी गतिविधियां खुल रखी है और आगे थोक कारोबारी गतिविधियां बेहतर संचालित होने की उम्मीद है।उन्होंने आगे बताया कि अगले महीने शुभ विवाह के मुहूर्त अपेक्षाकृत अधिक है जिससे साड़ियां,लहंगा चुनरी व लांचा में थोक कारोबार शानदार रहने की उम्मीद है।
साड़ियां,लेडीज सूट्स व दुपट्टा की कॉटन किस्मों में थोक ग्राहकी की धमक बढ रखी है और अगले महीन के शुरु से थोक कारोबारी गतिविधियां खुलकर चलायमान होगी।जिसको लेकर थोक व्यापारी अपने को कारोबार के समक्ष सक्रिय हो रखें हैं और आगे थोक कामकाज को व्यापक रुप से निष्पादत करने को लेकर विशेष रुप से उत्सुक हैं।इसीबीच मुंबई की गणगौर ब्रांड कॉटन की प्रिंटेड व एम्ब्राइडरीयुक्त साड़ियों में बिहार,पूर्वी उत्तर प्रदेश व झारखंड की थोक वैवाहिक व त्योहारी मांग चल पड़ी है।ऐसे में अगले महने से थोक कारोबार का दायरा बढने की उम्मीद है।जिसको लेकर मुंबई की गडोदिया क्रिएशन के निदेशक श्री महेश गडेदिया एवं श्री दिनेश गडेदिया ने बताया कि अगले वैवाहिक,त्योहारी व ग्रीष्मकालीन मौसम को लेकर गणगौर ब्रांड कॉटन की प्रिंटेड व एम्ब्राइडरीयुक्त साड़ियों के उत्पादन के मोर्चे पर फिनिंशिंग व साइनिंग में विशेष ध्यान रखी जा रही है ताकि उत्कृष्ण गुणवत्तायुक्त नई डिजाइन,पेटर्न,कलर व लुक समाहित आकर्षित हो सकेगी ताकि आगे थोक कामकाज की रफ्तार को बढाने में सहायत सिद्व हो सकेगी।वहीं अगले वैवाहिक,त्योहारी व ग्रीष्मकालीन मौसम को लेकर दिल्ली के चांदनी चौक में अग्रणी लगभग पांच दर्जन सलवार सूट्स के थोक व्यापारी व उत्पादकों की संस्था दिल्ली अनस्च्डि सलवार सूट्स एसोसिएशन की तरफ से अगले ग्रीष्मकालीन मौसम को लेकर बेहतरीन किस्मों की उत्कृष्ट कॉटन की प्रिंटेड व एम्ब्राइडरीयुक्त सलवार सूट्स को उत्पादन व विपणन करने को लेकर अग्रसर है।जिसके तहत अब थोक स्तर पर ग्राहकी खुल चुकी है और आगे कामकाज बेहतर चलने के आसार नजर आ रहे हैं।वहीं अगले वैवाहिक,त्योहारी व ग्रीष्मकालीन मौसम को लेकर कॉटन व पीसी दुपट्टा की थोक बिक्री श्ìाìरु हो रखी है जिसकी बिक्री अगले महीने से बेहतर चलने के आसार नजर आ रहे हैं।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer