बीटी कॉटन बीज मूल्य आदेश 7 दिसम्बर तक रहेगा लागू

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । केद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री नरेद्र सिंह तोमर ने लोकसभा में 17 मार्च 2020 को एक लिखित प्रश्न के उत्तर में कहा कि किसानों को अनुकूल,वाजिब तथा वहनीय मूल्यों पर बीटी कॉटन बीज की उपलब्धता सुनिश्चित करने और अतिशय मूल्य को घटाने को लेकर डीएसीएण्डएफडब्ल्यू ने 7 दिसम्बर 2020 को कपास बीज मूल्य (नियंत्रण) आदेश (सीएसपीसीओ) प्रख्यापित किया है।इस आदेश के तहत समिति प्रत्येक वर्ष बीज मूल्य,आवर्ती अधिशुल्क (विशेषता मूल्य),व्यापार लाभ आदि को ध्यान में रखते हुए बीटी कपास बीज का अधिकतम मूल्य (एमएसपी) निर्धारित करती है।जिसको लेकर 2019 में बीज-2 कपास बीज का मूल्य विशेषतया मूल्य 20 रुपए सहित 730 रुपए पर निर्धारित किया गया था।जिसको लेकर किसी भी बीज प्रतिष्ठान ने सूचना नहीं दी है।हालांकि भारतीय राष्ट्रीय बीज संघ ने यह सूचित किया है कि बीजी-2 प्रौद्योगिकी गुलाबी बॉलवॉर्म के विरुद्व प्रभावहीन हो गई है।ऐसे में आईसीएआर ने यह सूचित किया है कि इस तथ्य के बावजूद गुलाबी बॉलवार्म गोल्गार्ड-2 में मौजूद क्राई विषाक्त पदार्थो के प्रति प्रतिरोध विकसित कर चुका है।किसान 87 प्रतिशत से अधिक कपास क्षेत्र में बीटी कपास की खेती कर रहे हैं  और हय प्रौद्योगिकी अब तक बेहतर है और अमेरिकन बॉलवार्म तथा स्पाटेड बॉलवार्म के विरुद्व सुरक्षा प्रदान कर रही है।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer