एपरल की बिक्री में एक सप्ताह में 80 प्र.श. की गिरावट

सभी कर और लोन के भुगतान में ज्यादा समय देने की सीएमएआई की मांग
मुंबई। कोरोना के कारण माल, शापिंग सेंटर, स्टोर बंद रहने से और लोगों का आवागमन घट जाने से गत एक सप्ताह में तैयार वस्त्रों की बिक्री में 80% की गिरावट दिखायी दी है। इस उद्योग में मैन्युफेक्चरिंग और रिटेल क्षेत्र के बीच 250 लाख लोग काम करते हैं । यदि मौजूदा स्थिति 4 सप्ताह से अधिक चलेगी तो लगभग 25% बेकारी निर्माण होने की दहशत है। इस संकट से रिकवर होने में 10 से 12 महीने लग जाएगा, सीएमएआई के अध्यक्ष राकेश बियानी ने उक्त जानकारी दी।
इससे सभी स्टेच्युटरी रकम जैसे आयकर, एडवांस कर, जीएसटी आदि स्थगित रखने पर सरकार को विचार करना चाहिए। सभी बैंक लोन के रिपेमेंट के लिए कम से कम 180 दिन का समय देना चाहिए। वर्तमान आर्थिक तंगी का सामना करने के लिए उद्योग को अतिरिक्त कार्यशील पूंजी शून्य ब्याद पर देनी चाहिए। साथ ही सरकार को कुछ वेतन सब्सिडी देनी चाहिए जिससे इस क्षेत्र में बेकारी पैदा न हो। तिरुपुर एक्सपोटर्स एसो. के अध्यक्ष राजा सन्मुगम ने कहा कि यूरो के और विशेष रूप से इटली-स्पेन के आयातक उनके कमिटमेंट रद्द करा रहे हैं । माल नहीं उठाते और गए माल का भुगतान नहीं करते।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer