उत्तर भारत के किसानों को रबी फसलों के नुकसान का मिलेगा मुआवजा

उत्तर भारत के किसानों को रबी फसलों के नुकसान का मिलेगा मुआवजा
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । उत्तर भरात में पिछले एक पखवाड़े के तहत तेज बारिश-ओलावृष्टि से रबी फसलों को व्यापक रुप से क्षति पहुंची है।है।जिसके तहत गेहूं व सरसों की खड़ी फसल जो कि कटने को लेकर तैयार थी।जिसको लेकर समाचार लिखे जाने तक रबी फसलों को व्यापक नुकसान होने की खबर है।ऐसे में रबी फसल प्रभावित उत्तर भारत के राज्य सरकारों ने तात्कालिक रुप से किसानों को मुआवजा राशि देने का फैसला किया गया है।
दरअसल केद्र सरकार भी उत्तर भारत के किसानों को रबी फसलों से हुए नुकसान को लेकर राहत देने की तैयारी में जुट गई है।जिसकों लेकर केद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा है कि मौसम की मार और आपदा के चलते रबी फसलों को नुकसान का आकलन अब उपग्रह यानि सेटेलाइट से किया जाएगा।जिससे किसानों को फसल बीमा का लाभ या मुआवजा देने में पारदर्शिता आएगी और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना(पीएमएफबीवाई) किसानों के लिए लाभकारी साबित होगी।वहीं केद्र सरकार की तरफ से पीएमएफबीवाई की तरफ से फसल बीमा में दूसरा बदलाव यह किया गया है कि पहले बीमा कंपनियों के लिए अब एक वर्ष की बजाय कम से कम तीन वर्ष के लिए नीलामी भरना अनिवार्य होगा।इससे किसानों की समस्याओं का समाधान होगा क्योंकि तीन वर्ष के लिए जब कंपनी नीलामी भरेगी तो किसानों के प्रति उनकी जिम्मेदारी बनी रहेगी।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer