चीन में औद्योगिक उत्पादन शुरू : सप्लाई चेन शीघ्र होगी सामान्य

चीन में औद्योगिक उत्पादन शुरू : सप्लाई चेन शीघ्र होगी सामान्य
ऑर्डर फोन से हो रहे बुक, माल मंगाने की लागत में वृद्धि
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । कोरोना वायरस के जूझने के बाद चीन के अधिकतर शहरों में औद्योगिक उत्पादन आरंभ हो गया है।ऐसे में चीन से शीघ्र ही कच्चे माल की सप्लाई चेन सुधर सकती है।जिसको लेकर भारतीय कारोबारी अब चीन में अपना ऑर्डर भी बुक कराने लगे हैं ।ऐसे में कहा जा रहा है कि अगले महीने के दूसरे सप्ताह के शुरु में अधिकतर शिपमेंट शुरु हो जाएगी।यद्यपि माल मंगाने में होने वाले खर्च में पहले की तुलना में लगभग 40 प्रतिशत तक की बढोतरी होगी।
दरअसल चीन की सरकार की तरफ से मार्च के अंत तक 80 प्रतिशत उत्पादन फिर से शुरु करने का लक्ष्य निर्धारित कर रखा है।ऐसे में बड़े आकार की 90 प्रतिशत से अधिक इकाइयां उत्पादन शुरु कर चुकी है।जिसके तहत चीन में आइकिया और एप्पल के बंद पड़े स्टोर भी खुल चुके हैं ।जिसको लेकर फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट आर्गेनाइजेशन (फियो) के अध्यक्ष शरद कुमार सर्राफ ने कहा कि चीन के अधिकतर शहरों में औद्योगिक गतिविधियां शुरु हो चुकी है।जिसके तहत कोरोना वायरस के प्रमुख केद्र वुहान में भी 50 प्रतिशत तक औद्योगिक उत्पादन होने लगा है।उन्होंने कहा कि चीन के ननजीन शहर में उनकी अपनी औद्योगिक इकाइयां है जहां पर संपूर्ण रुप से काम शुरु हो रखा है।ऐसे में भारतीय उद्यमियों को उम्मीद है कि यथाशीघ्र ही चीन से सप्लाई चेन बहाल हो जाएगी।जिसको लेकर बकायदा भारतीय कारोबारियों की तरफ से चीन को ऑर्डर देना शुरु कर दिया गया है।ऐसे में चीन से माल मंगाने वाले कारोबारी मुख्य रुप से दो प्रकार के कारोबार करते हैं  डायरेक्ट और एजेंट के माध्यम से करते हैं ।जिसके तहत एजेंट के माध्यम से कारोबार करने वाले कारोबारी फिलहाल ऑर्डर नहीं बुक कर पा रहे हैं ।चूंकि कारोबारियों को चीन से माल मंगाने में फिलहाल पहले की तुलनाम zं लगभग 40 प्रतिशत तक अधिक कीमत चुकानी पड़ेगी। जिसको लेकर पहले  जिस कंटेनर को मंगाने में 1.5 लाख रुपए का खर्च आता था जिसको लेकर अब 2 लाख रुपए देने पड़ रहे हैं ।ऐसे में ऐयरलिऋट से माल मंगाना और भी महंगा पड़ रहा है।जिसके तहत दवा के लिए कच्चा माल मंगाने वाले उद्यमियों की तरफ से कहा जा रहा है कि एयरलिफ्ट से 100 रुपए प्रति किलो की लागत आ रही है।वहीं शिप से चार रुपए प्रति किलो की लागत आ रही है।   

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer