कोरोना वायरस : जंग से लड़ने के लिए तैयार सेना

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । कोविड-19 के खिलाफ राष्ट्रीय प्रयासों को 'युद्ध' की संज्ञा दी जा रही है। इस बीच रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि सेना के अतिरिक्त चिकित्सा एवं लॉजिस्टिक संसाधनों का इस्तेमाल सरकारी स्वास्थ्य प्रशासन की मदद में किया जाएगा। 
रक्षा मंत्रालय ने कहा कि सशस्त्र बल पहले ही मुंबई, जैसलमेर, जोधपुर, हिंडन, मानेसर और चेन्नई में छह क्वारंटीन केंद्र बना चुके हैं। इसके अलावा सेना देश भर में सशस्त्र बलों के 51 अस्पतालों में हाई डिपेंडेंसी यूनिट और इंटेंसिव केयर यूनिट (आईसीयू) उपलब्ध कराएगी। 
रक्षा मंत्रालय की तरफ से शुक्रवार को जारी विज्ञप्ति में कहा गया, 'इन अस्पतालों में से कुछ कोलकाता, विशाखापत्तनम, कोच्चि, हैदराबाद के निकट डूंडीगल, बेंगलूरु, कानपुर, जैसलमेर, जोरहाट और गोरखपुर में हैं।' 
रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि इनके अलावा 15 अन्य सैन्य अस्पतालों को जरूरत पडने पर  इस्तेमाल के लिए तैयार रखा गया है। इनमें संयुक्त रूप से कोविड-19 के मरीजों के लिए करीब 15,000 बेड होंगे। सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने कोविड-19 से निपटने के प्रयासों में सहयोग के लिए 8,500 डॉक्टर और सहायक स्टाफ मुहैया कराने की पेशकश की है।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer