उत्तर प्रदेश में 700 करोड़ का होगा निवेश

उत्तर प्रदेश में 700 करोड़ का होगा निवेश
नौ हजार लोगों को मिलेगा रोजगार 
लखनऊ ।  उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) ने लॉकडाउन की अवधि में 88 नई इकाइयों के लिए उद्यमियों को विकसित भूखंड उपलब्ध कराया। लगभग 46.94 एकड़ भूमि में स्थापित होने वाली इन नई इकाइयों में 700 करोड़ रुपये का निवेश होगा, जिसमें नौ हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। 
यह जानकारी यूपीसीडा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अनिल गर्ग ने दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना के विशेष प्रयासों से मेसर्स हिन्दुस्तान यूनीलीवर लिमिटेड, मैपी इंडस्ट्रीज, डीएस ग्रुप आफ इंडस्ट्री, गुरु नानक इंटररप्राइज, कृष्णा आर्गेनिक एवं मौर्या मोल्ड उद्योग आदि नई इकाइयां लगाने जा रहे हैं। इनमें से डीएस ग्रुप आफ इंडस्ट्रीज द्वारा खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों में विदेशी तकनीकी के आधार पर परियोजना लगाई जा रही है। इसी तरह मैपी उद्योग जो कि इटली का प्रतिष्ठित उद्यम समूह है, विदेशी निवेश पर आधारित परियोजनाएं स्थापित करने जा रहा है। नई इकाइयां विभिन्न सेक्टरों जैसे कि खाद्य प्रसंस्करण, इंजीनियरिंग उद्योग, केमिकल व टेक्सटाइल आदि से संबंधित होंगी। 
सीईओ ने बताया कि लॉक डाउन के बाद भी प्रदेश में औद्योगिक निवेश विशेषकर विदेशी पूंजी निवेश आकर्षित करने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए गए हैं। लाकडाउन अवधि में यूपीसीडा ने उद्यमियों को 21 सुविधाएं आनलाइन उपलब्ध कराईं। इनमें भूमि का आवंटन, भवन मानचित्र अनुमोदन, परियोजना के लिए समय विस्तारण, लीजडीड निष्पादन एवं उद्यमियों को वित्तीय सुविधाए उपलब्ध कराने के लिए लीजडीड बैंकों को बंधक रखे जाने की सुविधा शामिल है। 
लॉकडाउन अवधि में यूपीसीडा ने उद्यमियों से प्राप्त कुल 590 सेवा आवेदनों का आनलाइन निस्तारण किया। इन आवेदनों में 88 नई इकाइयों की स्थापना के लिए भूमि आवंटन, 22 भवन मानचित्र अनुमोदन, 65 परियोजनाओं के लिए, समय विस्तारण, 136 लीज डीड निष्पादन के लिए आवेदन, 36 आवेदन लीज डीड बंधक रखे जाने के लिए एवं अन्य सेवाओं जैसे कि उत्पादनरत होने के प्रमाणपत्र, अनादेय प्रमाणपत्र, भूखंडों पर किरायेदारी आदि से संबंधित उद्यमियों से प्राप्त आवेदनों का निस्तारण किया गया है। 

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer