सोलापुर चेंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा चीनी वस्तु न खरीदने की अपील

सोलापुर । `चीनी वस्तु खरीदना नहीं`, ऐसा अभियान सोलापुर चेंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा बड़ी जोरदार से शुरू किया गया है। चीनी ड्रैगन द्वारा भारत के 20 सैनिकों की हत्या की गई थी। इस वजह से भारतीय नागरिक बहुत गुस्से में हो गए हैं। इस विरोधी वातावरण से चीनी वस्तुओं पर बहिष्कार डालने का आंदोलन पूरे जोरों शोरों से किया जा रहा है। विभिन्न राजकीय पक्ष विद्यार्थी वर्ग एवं अनेक राष्ट्रीय और सामाजिक संगठन द्वारा चीनी वस्तुओं की होली की जा रही है। `चीनी वस्तु मत खरीदो और ना बेचो`, ऐसा आवान सोलापुर चेंबर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष राजू राठी एवं उनके कार्यकर्ताओं ने जारी किया है। 
इस पार्श्वभूमी पर स्वदेशी वस्तु खरीदी करो, ऐसा निवेदन किया है। सोलापुर जिला यंत्रमाग के अध्यक्ष पेंटप्पा गड्डम ने कहा कि टेक्सटाइल उद्योग में सबसे ज्यादा चीनी टेक्नोलॉजी से बनाए हुए रेपिअर लूम और अन्य स्पेयर पार्ट उपयोग में लाए जाते हैं। परंतु इसके आगे हम टेक्सटाइल उद्योग वाले संपूर्णता बहिष्कार डालकर चीनी कच्चा रॉ मेटीरियल भी नहीं खरीदी करेंगे। यंत्रमाग द्वारा स्वदेशी आंदोलन जारी किया गया है। पूरे सोलापुर शहर में चीनी वस्तुएं बेचने वाले सैकड़ों दुकानदार है। रेडीमेड वस्त्र, लेडीज वैरायटी के सैकड़ों नमूने के वस्त्र, चीनी बनावटी के खिलौने,स्पोर्ट्स गुड्स, कॉस्मेटिक्स,चीनी मोबाइल, लैपटॉप एवं अन्य स्पेयर पार्ट,वॉच,चीनी योगा मैट,चाइना फिटनेस मटेरियल, मेडिकल रॉ मैटेरियल, अनेक प्रकार प्रकार के केमिकल्स इलेक्ट्रॉनिक्स इलेक्ट्रिकल सामान,लाइटिंग बल्ब,झुंबर,चप्पल बूट,स्पोर्ट्स शूज,कंप्यूटर स्पेयर पार्ट,चीन निर्मित ओप्पो, शाओमी, विवो, रियलमी,वनप्लस आदि मोबाइल्स एवं उनके स्पेयर पार्ट, दूरसंचार मटेरियल, म्यूजिक आइटम्स, लोहे तथा पोलादी चीजें,वार्निश, टोबैको गुड, कृषि मशीनरी,हेयर क्रीम, शैंपू इत्यादि अनेक प्रकार की चीनी गुड्स भारत में चीन द्वारा आयात होते हैं। इन सब चीजों पर बहिष्कार डालो ऐसा आवान देशवासियों को किया जा रहा है। वास्तविकता के आधार पर 2018 में चीन द्वारा 76.87 अब्ज डॉलर और अप्रैल 2019 से फरवरी 2020 में चीन द्वारा 62.4 अब्ज डॉलर का माल भारत में आयात हुआ है।भारत से चीन को सिर्फ 15.5 अब्ज डॉलर की निर्यात हुई है। चीन से भारत को आयातित मूल्य का व्यवहार 14% है। भारतीय क्रिकेट को भी चीनी ड्रैगन ने आर्थिक मदद करके पूरी तरह से घेर लिया है। 2200 करोड़ विवो आईपीएल करार से 5 साल तक करार बंद है। 1079 करोड़ बाईजूस भारतीय संघ को स्पॉन्सर किया गया है। 3.5 करोड़ भारत देश अंतर्गत सभी क्रिकेट मैच को पेटीएम स्पॉन्सर करता है। वैसे ही रियल एस्टेट क्षेत्र में देश के 250 उद्योगोंको चीन द्वारा आयातित चीजों पर निर्भर रहना पड़ता है। 

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer