एलआईसी आईपीओ लांच करने को सुसज्ज

एलआईसी आईपीओ लांच करने को सुसज्ज
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी के विनिवेश की तैयारी पूरी हो चुकी है।जिसको लेकर मोदी सरकार इस वर्ष  एलआईसी की आईपीओ लाँच करने वाली है।चूंकि आर्थिक मुश्किल की घड़ी में बीमाधारकों के साथ साथ केद्र सरकार के लिए भी संकटमोचन का काम करने वाली एलआई अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिए जल्द ही आईपीओ पेश करने जा रही है। जिसको लेकर कैद्र सरकार एलआईसी के आईपीओ के जरिए इस वर्ष 210 जाख करोड़ रुपए के विनिवेश का लक्ष्य रखा है।
दरअसल केद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में एलआईसी की हिस्सेदारी बेचने की बात कही थी।अब इसके लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली है।जिसको लेकर केद्र सरकार ने एलआईसी आईपीओ के लिए शुरुआती प्रक्रियाओं की शुरुआत कर दी है।जिसमें डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्टमेंट एण्ड पब्लिक एस्टेट मैनेजमेंट की मदद से दो प्री आईपीओ एडवाइजरी नियुक्त करना चाहती है।एलआईसी का आईपीओ देश का सबसे बड़ा आईपीओ माना जा रहा है।इसकी लॉचिंग से पहले प्रोफेशनल एडवाइजरी फर्म,इंवेस्टमेंट बकर, मर्च़ेंट बकर,फाइनेंशिंयल इंस्टीट्यूट,या बकों से आवेदन मंगाए गए ह।जिसको लेकर केद्रीय वित्त मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि एलआईसी को शेयर बाजार में लिस्ट कराने से इसके संचालन में पारदर्शिता और बढेगी।वहीं इसके साथ साथ शेयर बाजार का भी विस्तार होगा। एलआईसी को शेयर बाजार में लिस्टिंग कराने से बीमाधारकों को भी लाभ मिलेगा।वहीं रेटिंग एजेंसी फिच की तरफ से कहा गया है कि एलआईसी लिस्टिंग से भारत में इंश्योरेंस इंडस्ट्रीज को फायदा मिलेगा।एक बार एलआईसी का आईपीओ बाजार में उतरने के बाद इस कंपनी की जबावदेही और पारदर्शिता में और सुधार देखने को मिलेगा।वहीं इसकी लिस्टिंग से केद्र सरकार को भी लाभ मिलेगा।एलआईसी के आईपीओ आने के बाद केद्र सरकार को इससे बड़ी रकम मिलेगी क्योंकि एलआईसी में सरकार की बड़ी हिस्सेदारी है जिसे बेचने से केद्र सरकार को काफी बड़ी रकम मिलेगी।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer