गुजरात में मूंगफली की सरकारी खरीद दिवाली के बाद

गुजरात में मूंगफली की सरकारी खरीद दिवाली के बाद
राजकोट। गुजरात में खरीफ फसल वर्ष 2020-12 में मूंगफली की बम्पर पैदावार होने का अनुमान है। राज्य सरकार का कहना है कि मूंगफली की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर दिवाली के बाद 19 नवंबर से शुरु होगी। 19 नवंबर को लाभ पंचमी हैं। किसानों के लिए इस बोर में रजिस्ट्रेशन की तारीख जल्दी घोषित की जाएगी। 
दूसरी ओर,राज्य की मंडियों में मूंगफली की आवक शुरु हो गई है। गोंडल मंडी में मूंगफली का भाव 3330-5030 रुपए प्रति क्विंटल बोला जा रहा है जो न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 5275 रुपए प्रति क्विंटल से कम है। 
गुजरात सरकार ने चालू खरीफ सीजन वर्ष 2020-21 में 54.65 लाख टन मूंगफली का उत्पादन होने का पहला अग्रिम अनुमान जारी किया है। यह उत्पादन पिछले साल के चौथे अनुमान से तकरीबन दस लाख टन ज्यादा है। गुजरात सरकार ने चौथे अग्रिम अनुमान में 45 लाख टन मूंगफली पैदा होने का अनुमान जारी किया था। हालांकि,कारोबारी इस साल 38 लाख टन मूंगफली पैदा होने की संभावना जता रहे हैं। 
 गुजरात में इस साल मूंगफली की बोआई 20.72 लाख हैक्टेयर में हुई है एवं प्रति हैक्टेयर 2637 किलोग्राम यील्ड का अनुमान लगाया गया है। पिछले साल यह बोआई 16.29 लाख हैक्टेयर में हुई थी एवं प्रति हैक्टेयर यील्ड 2764 किलोग्राम थी। जबकि,पूरे देश में बीते वर्ष 83.67 लाख टन खरीफ मूंगफली की पैदावार हुई थी जिसमें आधे से ज्यादा उत्पादन 45 लाख टन गुजरात से आया। गुजरात सरकार ने किसानों से खरीदी जाने वाली मूंगफली की मात्रा अभी तय नहीं की है लेकिन आम तौर पर यह कुल उपज का 25 फीसदी तक होता है।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer