लग्नसरा, क्रिसमस और पोंगल की खरीदी का बाजार में करंट

लग्नसरा, क्रिसमस और पोंगल की खरीदी का बाजार में करंट
80 प्र. श. कपड़ा मार्केटों में हलचल शुरू
व्यापार टीम
नई दिल्ली/मुंबई/सूरत। कोरोना के कारण मार्च से जून के दौरान कपड़ा मार्केट बंद रहने के बाद जुलाई में मंद शुरुआत के बाद दीपावली सुधरी। दीपावली वैकेशन के बाद खुलते में ही बाजार में सुधार देखा गया। इस बार वैकेशन कम समय रहा। अब 80 प्र. श. बाजार उत्साह के साथ खुल गए हø और शीघ्र सभी बाजार खुल जाने की आशा है। मुंबई में लाभपंचमी के दिन कपड़ा बाजार में विशेष कामकाज नहीं रहा। दिवाली के पूर्व रिटेल ग्राहकी अच्छी होने और बाजार में भीड़ बढ़ने से कोरोना के मामले बढ़ रहे हø। काटन यार्न का भाव पिछले एकाध महीने में 10 से 15% बढ़ा है। इससे ग्रे सूती कपड़े का भाव 5  से 10% ऊंचा कोट हो रहा है। दिल्ली में कोरोना का केस बढ़ रही है जिससे कामकाज प्रभावित हो रहा है।
सामान्यत: कपड़ा मार्केट में दिवाली वैकेशन एक हप्ता का होता है लेकिन दिवाली वैकेशन एक महीने पहले ही बाजार में खरीदी का करंट रहने से अधिकांश व्यापारियों ने 3 से 4 दिन का ही वैकेशन रखा। 
सूरत मर्केन्टाइल एसो. के प्रमुख नरेद्र साबू का कहना है कि बाजार में खरीदी का करंट है। खुलने के पहले दिन ही व्यापारियों में उत्साह देखने को मिल रहा है। लग्नसरा का सीजन शुरू होने से हैवी रेंज की खरीदी कर रहे हø। हैवी डाइंग और वर्क में डिमांड है जिससे आगामी दिनों में जॉबवर्क करने वालों को अधिक काम मिलने लगेगा। हालांकि थोड़ी चिंता है कि कोरोना केस की संख्या बढ़ रही है इसे देखते हुए सरकार ने अहमदाबाद में कई नियंत्रण लगाया है। अहमदाबाद की तुलना में सूरत में भी नियंत्रण लगाया जाए तो व्यापार में अवरोध आ सकता है। हमें आशा है कि सूरत में कोरोना फैलने से रुकेगा और व्यापार की गति तेजी से आगे बढ़ेगी। फोस्टा के डायरेक्टर रंगनाथ शारडा का कहना है कि दीपावली के त्योहार पर बाजार में रौनक रहने से व्यापारियों का उत्साह बढ़ा है। लग्नसरा, क्रिसमस और पोंगल की खरीदी कपड़ा मार्केटों शुरू होने से बाजार सुधरेगा। कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का चुस्ती से पालन करना जरूरी है।

© 2020 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer