भारत बॉन्ड ईटीएफ की तीसरी खेप अगले वित्त वर्ष शुरू में जारी करने की योजना

भारत बॉन्ड ईटीएफ की तीसरी खेप अगले वित्त वर्ष शुरू में जारी करने की योजना
भारत बॉन्ड ईटीएफ से रु 10,000 करोड़ जुटाएगी सरकार
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । केद्र सरकार अगले वित्त वर्ष की प्रथम तिमाही में भारत बॉन्ड ईटीएफ की तीसरी खेज जारी करने की योजना बनास रही है और इसके लिए ख्ìादरा निवेशकों से 10,000 करोड़ रुपए जुटाने की उम्मीद है।इस धनराशि का इस्तेमाल सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों की वृद्वि योजनाओं को पूरा करने के लिए किया जाएगा।
दरअसल भारत बॉन्ड ईटीएफ शेयर बाजार में सूचीबद्व एक फंड है जिसके तहत सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों की ऋण योजनाओं में निवेश किया जाता है।ईटीएफ इस समय सार्वजनिक क्षेत्र के कंपनियों के सिर्फ एएए बाले रेटिंग बॉन्ड में निवेश करता हे।वहीं वित्त वर्ष 2021-22 की अप्रैल-जून तिमाही में इसकी पहली किस्त के तहत बाजार में 10,000 से 15,000 करोड़ रुपए की तीसरी खेप आने की संभावना है।उल्लेखनीय है कि भारत बॉन्ड की दूसरी किस्त को जुलाई 2020 में पेश किया गया था और से तीन गुना से अधिक अभिदान मिला था।इसके जरिए 11,000 करोड़ रुपए जुटाए गए थे।वहीं भारत बॉन्ड ईटीएफ की प्रथम किस्त 2019 के तहत 12,400 करोड़ रुपए की धनराशि जुटाई जुलाई गई थी।भारत बॉन्ड ईटीएफ के जरिए जुटाए गए कोष से इसमें भाग लेने वाले सीपीएसई या सार्वजनिक क्षेत्र के बøकों की कर्ज लेने की योजना सुगमता से पूरी होती है।इससे उन्हें अपने पूंजीगत खर्च को भी पूरा करने में मदद मिलती है।भारत बॉन्ड ईटीएफ ने अपनी दूसरी किस्त के तहत पांच वर्ष और 12 वर्ष की परिपक्वता का विकल्प दिया था।वहीं भारत बॉन्ड ईटीएफ की प्रथम किस्त में परिपक्वता का विकल्प 3 वर्ष और 10 वर्ष था।ईटीएफ फिलहाल एएए रेटिंग वाले सार्वजनिक क्षेत्र के बॉन्ड में ही निवेश करता है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer