सूखे मटर की उपज 2021-22 में घटने का अनुमान

विनिपग। एग्रीकल्चर एंड एग्री फूड कनाडा (एएएफसी) ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि वर्ष 2020-21 में सूखे मटर का निर्यात 38 लाख टन रहने का अनुमान है जिसमें सबसे बड़ा निर्यात चीन एवं बांग्लादेश को रहेगा। वर्ष 2021-22 में सूखे मटर की खेती 17.5 लाख हैक्टेयर में होने की संभावना है लेकिन इसकी उपज घटकर 44 लाख टन रहने का अनुमान है। उत्पादन घटने से इसकी आपूर्ति में मामूली कमी का अंदेशा है। 
एएएफसी ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कनाडा में वर्ष 2020-21 में सूखे मटर का उत्पादन अनुमान 45.94 लाख टन रहने का अनुमान है। यह अनुमान वर्ष 2021-22 के लिए 44 लाख टन आंका गया है। जबकि वर्ष 2019-20 में सूखे मटर का उत्पादन 42.37 लाख टन था। कनाडा में सूखे मटर की खेती वर्ष 2020-21 में 16.85 लाख हैक्टेयर में होने का अनुमान है। यह वर्ष 2019-20 में 17.11 लाख हैक्टेयर थी जबकि वर्ष 2021-22 में 17.15 लाख हैक्टेयर में होने का अनुमान है। 
कनाडा से सूखे मटर का निर्यात वर्ष 2020-21 में 37 लाख टन रहने की संभावना जताई गई है। यह निर्यात वर्ष 2019-20 में 37.08 लाख टन एवं वर्ष 2021-22 में 37 लाख टन रहने की संभावना है। सूखे मटर का कैरी ऑउट स्टॉक वर्ष 2020-21 में तीन लाख टन रहने के आसार है जबकि यह अनुमान वर्ष 2021-22 के लिए 2.50 लाख टन आंका गया है। वर्ष 2019-20 में 2.33 लाख टन रहा। 
एएएफसी ने सूखे मटर का औसत भाव फसल वर्ष 2020-21 के लिए 15 डॉलर घटाकर 300 कनाडाई डॉलर प्रति टन किया है। यह पिछले महीने 315 कनाडाई डॉलर प्रति टन था। जबकि, फसल वर्ष 2019-20 के लिए 265 कनाडाई डॉलर रहा। फसल वर्ष 2021-22 के लिए 15 डॉलर बढ़ाकर 300 कनाडाई डॉलर प्रति टन किया है। 
अमरीकी कृषि संस्था (यूएसडीए) के मुताबिक वर्ष 2020-21 में अमरीका में सूखे मटर का उत्पादन दो फीसदी घटकर 10 लाख टन रहने की संभावना है। जबकि, मुख्य निर्यात बाजार कनाडा, फिलिपींस और भारत के बने रहने की उम्मीद है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer