रिलायंस इंडस्ट्रीज आयल और केमिकल बिजनेस को करेगी अलग

रिलायंस इंडस्ट्रीज आयल और केमिकल बिजनेस को करेगी अलग
नई सब्सिडियरी में आराम्को 20 प्र.श. शेयर हिस्सा खरीदेगी मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रेज ने अपने आयल टू केमिकल्स (ओटूसी) बिजनेस को एक सब्सिडियरी कंपनी में ट्रान्सफर करने की घोषणा की है। इस नई सब्सिडियरी रिलायंस ओटूसी लि. में रिलायंस का 100 प्र.श. मैनेजमेंट कंट्रोल होगा।  कंपनी के शेयर होल्डिंग ढांचे में कोई बदलाव नहीं होगा। ओटूसी की वर्तमान आपरेटिंग टीम बिजनेस ट्रांसफर के बाद नई सब्सिडियरी में जाएगी, लेकिन आय और कैश फ्लो यथावत् रहेगा।  रिफाइनिंग का मार्केटिंग और पेट्रो केमिकल के सभी एसेट नई सब्सिडियरी में जाएंगे। इससे स्ट्रेटेजिक भागीदारी से मूल्य में वृद्धि होगी। इसमें सउदी, आराम्को के साथ की भागीदारी का भी समावेश होता है। इसके अलावा निवेश भी आर्कषक बनेगा।  रिलायंस ने ओटूसी बिजनेस को 25 अरब डालर का लोन दिया है। स्ट्रेटेजिक निवेशकों के आने के बाद लोन वापस किया जाएगा। इसके लिए सेवी और स्टाक एक्सचेन्जों की मंजूरी मिल गयी है।  सभी मंजूरियां वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही में मिल जाने की कंपनी को उम्मीद है। नई व्यवस्था लागू होने के बाद रिलायंस रिटेल में आरआईएल का शेयर हिस्सा 85.1 प्र.श. और जिओ प्लेटफार्म में 67.3 प्र.श. रहेगा। नई सब्सिडियरी में फ्यूएल रिटेल सब्सिडियरी का भी समावेश किया जाएगा।  2035 तक में नेट कार्बन जिरो के लक्ष्य को पूरा करने के लिए कंपनी और नई सब्सिडियरी काम करेगी।  कंपनी ने कहा कि कंसोलिटेड फाइनेंशियल स्थिति, पूंजी खर्च, कर्ज और रेटिंग पर इस कदम का कोई असर नहीं पड़ेगा। पुर्नगठन के कारण रिलायंस को अपना 20 प्र.श हिस्सा आराम्को को बेचने में आसानी रहेगी।  

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer