विदेश व्यापार नीति की अवधि छह माह बढ़ी

हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । केद्रीय वाणिज्य मंत्रालय की तरफ से पहली अप्रैल 2021 को मौजूदा विदेश व्यापार नीति (एफटीपी) की अवधि छह माह बढाकर 30 सितम्बर 2021 कर दी है।जिसको लेकर केद्र सरकार की तरफ से कोरोना महामारी के चलते चल रही अनिश्चितता के दौर में भारतीय निर्यातकों को समर्थन देने को लेकर यह कदम उठाया है।उल्लेखनीय है कि यह नीति 31 मार्च 2021 को समाप्त हो रही थी। 
दरअसल पिछले वर्ष केद्र सरकार की तरफ से विदेश व्यापार नीति 2015-20 की अवधि 31 मार्च 2021 तक के लिए बढा दी गई थी ताकि कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहे भारतीय निर्यातकों को सभी तरह के प्रोत्साहन मदद मिल सकेगा। इससे पहले केन्द सरकार की तरफ से कहा गया था कि नई विदेश व्यापार नीति पहली अप्रैल 2021 से 5 वर्ष के लिए लागू होगी।जिसको लेकर बकायदा केद्र सरकार की तरफ से सभी हितधारकों के साथ बैठक भी की थी।जिसको लेकर विदेश व्यापार महानिदेशालय की तरफ से एक अधिसूचना में कहा है कि मौजूदा विदेश व्यापार नीति (एफटीपी) 2015-20 की वैधता 31 मार्च 2021 से बढाकर 30 सितम्बर 2021 कर दी गई है।जिसको लेकर कहा गया है कि कोराना महामारी के चलते विकट स्थिति को देखते हुए केद्र सरकार की तरफ से मौजूदा एफटीपी नीति की अवधि अगले छह माह के लिए और बढाकर सभी निर्यात संवर्द्वन योजनाओं का लाभ जारी रखने का फैसला किया गया है ताकि भारतीय निर्यातकों को विभिन्न प्रोत्साहन स्कीम का लाभ मिल सकेगा और निर्यात के मोर्चे पर अग्रसर रहेंगे जिससे भारतीय निर्यात की रफ्तार निर्बाद्व रुप से जारी रह सकेगी।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer