आरबीआई ने जारी किए यूनिवर्सल और फाइनेंस बøक के नाम

देश में खुलेंगे 8 नए बøक   
नई दिल्ली । रिजर्व बøक ऑफ इंडिया (आरबीआई) को ऑन टैप यानी कभी भी लाइसेंस के लिए आवेदन करने के दिशानिर्देशों के तहत कुल 8 आवेदन मिले हø।इसमें सभी प्रकार की सेवाएं देने वाले यूनिवर्सल बøक स्थापित करने के लिए 4 और स्माल फाइनेंशियल बøक (एसएफबी) के 4 आवेदन शामिल हø।जिसमें यूएई एक्सचेंज एंड फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड,द रिपैट्रिएट्स कोऑपरेटिव फाइनेंस एंड डेवलपमेंट बøक लिमिटेड (आरईपीसीओ बøक),चैतन्य इंडियन फिन क्रेडिट प्राइवेट लिमिटेड और पंकज वैश्य  और अन्य ने ऑन टैप लाइसेंसिंग दिशानिर्देशों के तहत यूनिवर्सल बøक फाइनेंस लाइसेंस के लिए आवेदन किया है।जिसके तहत फ्लिपकार्ट के सह संस्थापक सचिव बंसल ने सितम्बर 2019 में चैतन्य में 739 करोड़ रुपए की निवेश प्रतिबद्वता के साथ बहुलांश हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था।बंसल चैतन्य के प्रबंधक निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) हø।वहीं स्मॉल फाइनेंस बøक (एसएफबी) के लिए ऑन टैप दिशानिर्देशों के तहत वीसॉफ्ट टेक्नोलॉजिज प्राइवेट लिमिटेड,कालीकट सिटी सर्विस कोऑपरेटिव बøक लिमिटेड,अखिल कुमार गुप्ता द्वारा क्षेत्रीय ग्रामीण फाइनेंशियल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड ने आवेदन किया है।वहीं निजी क्षेत्र में यूनिवर्सल बøकों और एसएफबी की ऑन टैप लाइसेंसिंग के दिशानिर्देश क्रमश: 1 अगस्त 2016 और 5 दिसम्बर 2019 को जारी किए गए थे।इस दिशानिर्देशों के तहत यूनिवर्सल बøक के लिए न्यूनतम चुकता वोटिंग इक्विटी पूंजी 500 करोड़ रुपए होनी चाहिए।ऐसे में हर समय बøक का न्यूनतम नेटवर्थ 500 करोड़ रुपए होना चाहिए।वहीं एसएफबी के मामले में न्यूनतम चुकता वोटिंग पूंजी या नेटवर्थ 200 करोड़ रुपए होने चाहिए।यदि कोई शहरी सहकारी बøक स्वैच्छिक रुप से एसएफबी के रुप में परिवर्तित होना चाहता है तो नेटवर्थ की शुरुआत जरुरत 100 करोड़ रुपए है।इसे 5 वर्ष में 200 करोड़ रुपए करने की जरुरत होगी।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer