सूरत के बाजारों में मनपा की चेकिंग बढ़ने से व्यापार में आयी कमी

सूरत के बाजारों में मनपा की चेकिंग बढ़ने से व्यापार में आयी कमी
सूरत शहर में कोरोना संक्रमण बढ़ने के बाद महानगर पालिका ने खास करके कपड़ा बाजार में चेकिंग बढ़ाया है जिसकी वजह से व्यापारियों के लिए मुश्किल खड़ी हो रही है। स्टाफ और बाहर के व्यापारी बाजार में आ नहीं पा रहे है। ऊपर से चेकिंग की वजह से भी व्यापार में बहुत कमी आयी है।  
फोस्टा के सेक्रेटरी रंगनाथ शारडा बताते हø कि व्यापारियों पर जिस तरीके से दबाव बढ़ाया जा रहा है उसे देखते हुए सब ऐसा मानने लगे है की प्रशासन चाहता है कि व्यापारी खुद ही अपना काम-काज बंद कर दे। चेकिंग बढ़ने से स्टाफ, कर्मचारी और मजदूरों का बाजार में प्रवेश बहुत मुश्किल हो गया है। इन परिस्थितियों में व्यापार में भारी कमी आयी है और व्यापार खो देने के डर से काम काज बंद भी नहीं कर सकते। कारीगर और मजदूर भी अपने वतन वापस जाने लगे हैं।  
सूरत की पहचान माने-जाने वाले कपड़ा उद्योग को कोरोना का ग्रहण लग गया है। सूरत के कपड़ा बाजार में कोरोना के संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए महानगर पालिका ने शनिवार और रविवार को बाजार बंद रखने का फैसला भी किया था।  सूरत के कपड़ा बाजार में भारी संख्या में लोग आते हैं। सेंकड़ों लोग सूरत के आस-पास के शहर व अन्य राज्यों से भी आते है। प्रशासन ने मार्केट के बाहर टेस्टिंग पॉइंट के साथ-साथ वेक्सिनेशन की भी शुरुआत की है। इतना करने पर भी मार्केट से लगातार पॉजिटिव केस मिल रहे हø और अभी जिस तरह संक्रमण फैल रहा है उसे देखते हुए ऐसा लग रहा है कि आने वाले समय में ऐसी जगहों पर संक्रमण और भी बढ़ सकता है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer