इंफोसिस को चौथी तिमाही में रु 5,075 करोड़ का लाभ

इंफोसिस को चौथी तिमाही में रु 5,075 करोड़ का लाभ
हमारे संवाददाता
नई दिल्ली । देश में आईटी क्षेत्र की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी इंफोसिस ने 14 अप्रैल को मार्च 2021 तिमाही के नतीजे जारी किए हø।इस तिमाही में कंपनी का कुल शुद्व लाभ 2.6 प्रतिशत गिरकर 5,078 करोड़ रुपए रहा जो कि यह अनुमान से कम है। हालांकि विशेषज्ञ अनुमान कर रहे थे कि चौथी तिमाही में इंफोसिस का कुल शुद्व लाभ 6,170.2 करोड़ रुपए हो सकता है।
दरअसल तिमाही दर तिमाही आधार पर इंफोसिस की कुल आमदनी 2.8 प्रतिशत बढकर 26,311 करोड़ रुपए रही।यह भी विशेषज्ञों के अनुमान से कुछ कम है।विशेषज्ञ 26,701.8 करोड़ रुपए कुल आमदनी की उम्मीद कर रहे थे।बहरहाल बøगलुरु की आईटी कंपनी इंफोसिस ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 12-14 प्रतिशत सेल्स ग्रोथ का टारगेट दिया है।वहीं उम्मीद जताई है कि इस दौरान मार्जिन बøड 22-24 प्रतिशत हो सकता है।वहीं साल दर साल के आधार पर इंफोसिस की आमदनी मार्च तिमाही में 9.6 प्रतिशत बढी।इस दौरान मुनाफा 17 प्रतिशत बढा है।मार्च में समाप्त तिमाही में कंपनी की कुल परिचालन मार्जिन 24.5 प्रतिशत रहा।यह पिछली तिमाही से 0.90 प्रतिशत कम है।कंपनी ने 15 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से डेविडेंड का भी ऐलान किया है।नतीजे से पूर्व इंफोसिस बोर्ड की बैठक में 1750 रुपए प्रति शेयर बायबैक करने की मंजूरी दे दी है।13 अप्रैल को इंफोसिस के शेयरों के बंद भाव की तुलना में यह 25 प्रतिशत अधिक है।13 अप्रैल को कंपनी के शेयर 1402 रुपए पर बंद हुए थे।देश के दूसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी में शुमार इंफोसिस ने 13 अप्रैल को कहा था कि वह 9200 करोड़ रुपए के शेयर बायबैक करेगी।कंपनी ने चौथी तिमाही के नतीजे जारी करते हुए कहा कि चालू वित्त वर्ष 2021-22 में उसने 1 लाख करोड़ रुपए आमदनी का मुकाम हासिल कर लिया है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer