उत्तर भारत में कपास बोआई की रफ्तार में भारी इजाफा

नई दिल्ली । देश के विभिन्न उत्पादक राज्यों में कपास की बोआई शुरु हो गई है और आगामी दिनों में बोआई की रफ्तार में व्यापक इजाफा होने की उम्मीद है.
दरअसल देश के विभिन्न कपास उत्पादक राज्यों में कपास की बोआई शुरु हो रखी है.ऐसे में किसानों को विगत माहों में कपास के अच्छे मूल्य प्राप्त हुए हैं और आगे को लेकर अच्छी उम्मीदें है.जिससे कपास के किसान काफी उत्साहित हैं और इस बार किसान कपास की बोआई जोरशोर से करने को उन्मु हो रखें हैं.जिसके तहत इस बार उत्तर भारत के किसन कपास की बोआई सर्वाधिक जोरशोर से कर रहे हैं.जिससे इस बार भी अभी से कपास उपज अच्छी होने की संभावना है. ऐसे में इस बार भ देश में कपास उपज 360 लाख गांठ होने क संभावना है.यद्यपि इस वर्ष फरवरी में जो अनुमान लगाया गया था जिससे कहीं अधिक इस बार कपास की उपज होने की संभावना है.वहीं एक अनुमान के तहत 2020-21 में 360 लाख गांठ कपास की उपज हो सकती है.देश की उत्तरी इलाके में कपास की उपज डेढ लाख गांठ से अधिक हो सकती है.जिसके तहत हरियाणा सहित ऊपर राजस्थान और निचले राजस्थान में इस वर्ष कपास की उपज बढने की उम्मीद जताई गई है.वहीं पिछले वर्ष भी देश में 360 लाख गांठ कपास की उपज हुई थी

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer