असम चाय को सूखे की मार

15 % चाय अब तक हुई कम 
निधेष शाह
टी फोरम ऑफ इंडिया
मार्च और अप्रैल -2021 के दौरान असम में बारिश जितनी चाहिए उतनी नही हुई । कहि कहि जग़ह पे सुखे जैसे हालात रहे। इस कि बदौलत चाय का करीबन 15 % प्रोडक्शन असम मैं कम होने का अंदाज चाय प्रोड्यूसर लगा रहे है । 
जब कि पिछले साल पूरे भारत की चाय का करीबन 142 मिलीयन किलो प्रोडक्शन का घाटा पिछले मार्च, अप्रेल 2020  में लोकडाउण और नॉर्थ इण्डिया में जून जुलाई 2020 में अति बारिश की बजसे हुआ था । चाय इंडस्ट्रिस इस साल अच्छी शरुवात की आशा थी । मगर असम औघ वेस्टबंगल में सूखे की बज से चाय इंडस्ट्रिस को निराश होना पड़ा है । 
पिछले साल लोकडाउण के बावजूद जनवरी ओर फ़रवरी में असम में 0.27 मिलीयन किलो चाय का प्रोडक्शन हुआ था । इस साल कम बारिश की बजह से इसी अवधि में असम में 0.23 मिलीयन किलो चाय उतपन्न हुई । जो साल 2019 में जनवरी फ़रवरी में असम में 0.44 मिलीयन किलो चाय बनी थी । 
गरमी के दौरान चाय की पत्तियों पर बारिश की जरुरत होती हैं । इस कि बजह से मॉनसून आने तक चाय प्रोडक्शन स्टडी रहे । इस साल असम में मार्च अप्रेल में बहोत कम बारिश हुई । जो पिछले साल मार्च अप्रेल में 28.47 णण बारिश के सामने इस साल 14.20 णण लगभग आधी बारिश असम में हुई हैं । 
इसकी बजह से चाय इंडस्ट्रिस का अनुमान है कि असम में फस्ट फलस की चाय में 15% का प्रोडक्शन लॉस होगा । 

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer