व्यापार-उद्योग क्षेत्र को संकट के समय सहयोग देना सरकार की भूमिका : पियूष गोयल

व्यापार-उद्योग क्षेत्र को संकट के समय सहयोग देना सरकार की भूमिका : पियूष गोयल
कोल्हापुर । कोरोना संसर्ग के चलते लॉकडाउन के निर्बंधसे व्यापार-उद्योग क्षेत्र समस्या में फसा है। जबकि केंद्र सरकारको इसकी पूरी जाणीव है। ऐसे में व्यापार-उद्योग की समस्या का हल करने की केंद्र सरकारकी भूमिका है। लेकिन अब पहली प्राथमिकता कोरोना का संसर्ग रोकना और आरोग्य सुविधा बढाने को है ऐसा केंद्रीय वाणिज्य, उद्योग और रेल मंत्री पियुष गोयलने कहा। 
महाराष्ट्र चेंबर ऑफ कॉमर्स की ओरसे आयोजित विशेष मार्गदर्शन सभा में प्रमुख मार्गदर्शक के तौरपर पियुष गोयल बोल रहे थे। महाराष्ट्र चेंबर के वरिष्ठ उपाध्यक्ष ललित गांधी सभा की अध्यक्षस्थानपर थे। व्यापार, उद्योग क्षेत्र की भूमिका स्पष्ट करते हुए ललित गांधीने कहा की, लॉकडाउन के कारण व्यापार-उद्योग और सेवा क्षेत्र समस्या में फंसा हुआ है। कर्जे की पुनर्रचना, ब्याज में सहुलियत, कम ब्याज में कर्जा यह बाते शामिल होनेवाले पॉकेज की मांग की। साथ ही में जीएसटी आयकर विवरणपत्र और कर का भुगतान करने के लिए समयसीमा बढाने की मांग की गई। 
श्री. गांधीने कहा की, मुंबई-कोल्हापुर सुपर फास्ट रेल, पुणे-कोल्हापुर शटल सर्व्हिस इन दो नई सेवा की मांग कर इससे पहले मंजूर हुए कोल्हापुर-वैभववाडी रेल मार्ग का काम शुरू करने की मांग की। 
पियुष गोयलने कहा की, केंद्र सरकार अब पूरी ताकदसे आरोग्य सुविधा बढाने के साथ कोरोना संसर्ग रोकने के लिए कार्य कर रहा है। जबकि इसके लिए व्यापार उद्योग क्षेत्र सहयोग करे। साथ ही में मास्क और लसीकरण को गंभीरतासे ले। 
रेल मंत्रालय की ओरसे नई सेवा देते समय पहले के प्रलंबित प्रकल्प पुरे करने को प्राथमिकता है। महाराष्ट्र सरकारसे हमेशा संपर्क में है। भूमी संपादन, आर्थिक बातो की पूर्तता कर जल्द से मार्ग का काम शुरू करेंगे। जबकि व्यापारी-उद्यमियोंको लॉकडाउन समयमें आनेवाली समस्याओंका हल करने के लिए केंद्र सरकार वाणिज्य मंत्रालय की ओरसे वॉर रूम तयार के जरिए सभी राज्य सरकारोंके साथ समन्वय कर जल्दसे रास्ता निकलने की कोशीश की जाएगी ऐसा भी श्री. गोयलने कहा। 
जीएसटी और बाकी के कर विवरणपत्र और कर भरने की तारीख बढाने के बारे में गोयलने कहा की, महाराष्ट्र चेंबर ऑफ कॉमर्स की ओरसे केंद्रीय वित्त मंत्रालयसे संपर्क करे। 
इस समय हुई चर्चा में आशीष पेडणेकर, उमेश दाशरथी, घनश्याम गोयल, श्रीराम दांडेकर, शुभांगी तिरोडकर, संजय दादलिका, अनिल कुमार लोढा आदी मान्यवर शामिल हुए जिन्होने व्यापार-उद्योग क्षेत्र की समस्या पेश की।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer