गेहूं खरीद 70 प्रतिशत बढ़कर 292.52 लाख टन

नयी दिल्ली । केंद्र सरकार ने सोमवार को कहा कि चालू 2021-22 के रबी विपणन सत्र में अब तक गेहूं की खरीद 70 प्रतिशत से अधिक बढ़कर 292.52 लाख टन तक पहुंच गई है। इस खरीद से लगभग 28.80 लाख किसानों को लाभ पहुंचा है।    सरकारी उपक्रम, भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) और राज्य एजेंसियां न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद अभियान चला रही हैं। एक साल पहले की इसी अवधि में गेहूं खरीद 171.53 लाख टन रही थी। इस वर्ष केद्र सरकार के कहने पर हरियाणा और पंजाब ने किसानों को एमएसपी का अप्रत्यक्ष रूप से भुगतान करने के बजाय सीधे उनके बैंक खातों में ऑनलाइन हस्तांतरण व्यवस्था को अपनाया है। खाद्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ``दो मई, 2021 तक 292.52 लाख टन से अधिक की खरीद के साथ पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान और अन्य राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में गेहूं की खरीद तेज गति से चल रही है।''  पंजाब, हरियाणा और मध्य प्रदेश तीन राज्य हैं जिन्होंने अब तक गेहूं की खरीद में बड़ा योगदान दिया है। पंजाब में गेहूं की खरीद 114.76 लाख टन, हरियाणा 80.55 लाख टन और मध्य प्रदेश 73.76 लाख टन तक पहुंच गई है। गेहूं खरीद के इस कार्यक्रम से लगभग 28.80 लाख किसान लाभान्वित हुए है। किसानों को एमएसपी भुगतान के संबंध में, मंत्रालय ने कहा कि पंजाब में लगभग 17,495 करोड़ रुपये और हरियाणा में लगभग 9,268.24 करोड़ रुपये सीधे किसानों के खाते में स्थानांतरित किए गए हैं। यह पहली बार है कि पंजाब के किसानों को उनकी गेहूं फसल की बिक्री के एवज में सीधे बैंक खातों में भुगतान मिलना शुरू हुआ है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer