कपड़ा बाजार में वैवाहिक एवं समर सीजन की ग्राहकी चौपट

कपड़ा बाजार में वैवाहिक एवं समर सीजन की ग्राहकी चौपट
हमारे संवाददाता
कोरोना महामारी की विस्फोटक स्थिति के चलते गंगापुर सिटी समीर समूचे राज्य भर में लॉकडाउन एवं रात के समय कर्फ्यू लागू होने से कपड़े की अधिकांश किस्म में थोक एवं खुदरा कारोबार ठप है और आगे कारोबार को लेकर अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है। क्या लिखे जाने तक गंगापुर सिटी समेत इस संभाग में कोरोनावायरस हो रखी है राज्य सरकार द्वारा पूर्व में 3 मई तक का लॉकडाउन लगाया गया था जिसे बढ़ाकर 15 मई तक कर दिया गया है ऐसे में भरे सीजन में कपड़ा कारोबारियों को जटिल परिवेश से गुजरना पड़ रहा है। वैसे भी कपड़ा व्यापारियों  के पास  अच्छी तादाद में स्टांक है। के आसार दिखाई नहीं दे रखे हैं बिक्री के अभाव में कपड़ा बाजार में आर्थिक संकट गहराने की धारणा बनी हुई है। व्यापारियों की  दुकानों एवं गोदामों में वर्तमान सीजन के लिए भारी मात्रा में स्टॉक पड़ा हुआ है लॉकडाउन से पूर्व तक जो मालविका उसका भुगतान भी अटक गया है अप्रैल प्रथम पखवाड़े तक जिस गति से कारोबार चल रहा था लेकिन पूर्ण के तेजी से फैलते संक्रमण को रोकने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा लॉकडाउन एवं कर्फ्यू लगाना पड़ा व्यापारियों के गोदामों में माल अटक गया है और कारोबार के अभाव में भुगतान की आवक भी रुक गई है ।इस महामारी की चेन कब तक टूटेगी कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन इतना साफ हो गया है कि यह भरपूर वैवाहिक समर सीजन रमजान ईद आदि का सीजन भी चौपट हो गया है । वहीं प्रशासन द्वारा मेला कैला देवी करौली  ,मेला श्री महावीर जी एवं मेला  श्री कल्याण जी गंगापुर सिटी  पर रोक लगा दी गई ।इस मेले में आसपास क्षेत्र के   लोगों के  अलावा राज्य से बाहर के   महिला /पुरूष ,बाल , वृद्ध मेलार्थी  लाखों की संख्या में  भाग लेते थे । जिससे बाजार में ग्राहकी अच्छी रौनक दिखाई देती थी। मेला निरस्त  होने के  कारण बाजार में मेलार्थियों की ग्राहकी  को ग्रहण लग गया। यह मेला करीब एक महीने तक चलता था। जिससे बाजार में  सूटिंग शर्टिंग  रेडीमेड समेत महिला  परिधानों में अच्छी ग्राहकी निकलती थी । कपड़ा कारोबारियों ने बताया कि अप्रैल के दूसरे सप्ताह तक जिस गति से कारोबार चल रहा था लेकिन तीसरे सप्ताह से कोरोनावायरस से फैलते संक्रमण को रोकने के लिए राजस्थान सरकार को लॉकडाउन एवं कर्फ्यू लगाना पड़ा व्यापारियों के गोदामों में माल अटक गया है और कारोबार के अभाव में भुगतान की आवक भी रुक गई है इस महामारी की चेन कब तक होगी कुछ कहा नहीं जा सकता लेकिन इतना साफ हो गया है कि यह भरपूर वैवाहिक समर सीजन रमजान की शादी का सीजन भी उनकी वजह से चौपट हो गया है राज्य भर में महामारी नियंत्रण के लिए आवास पर  आदि बंदी से लगाई गई है जिससे कपड़ा वस्त्र परिधान कारोबार ठप पड़ गया है ऐसे में पटरी पर लौट रहा कारोबार एक बार फिर चौपट होता दिख रहा है वर्तमान सीजन पर इनको बहुत अधिक आशा थी इस महामारी का कहर नहीं टूटता तो अगले दो-तीन महीने अच्छा कारोबार हो सकता था जो पिछले साल की औसत निकाल देता लेकिन यह पूरा होने से पहले ही टूट गया अप्रैल दूसरे सप्ताह तक शानदार ग्राहकी निकली।
22 अप्रैल से जून 2021 तक अच्छी ग्राहकी चलने की संभावना थी जो निराशा में बदल गई। गंगापुर सिटी के प्रमुख कपड़ा कारोबारियों ने बताया कि लॉकडाउन से पहले गोल बाजार में मौजूद सभी प्रकार के कपड़े की सभी वैरायटी रंग एवं डिजाइन में लग्न  सीजन के लिए  अच्छा काम हो रहा था ।सूटिंग शर्टिंग सूट लेंथ  जोड़े एवं सफारी में अच्छा काम  हो रहा था । कॉटन  लिनन की अच्छी मांग निकल रही थी ।साड़ी लहंगा लांचा लेडीज सूट सहित सभी प्रकार के फैब्रिक्स गारमेंट्स में  जिगरा की ड्रेस एवं ब्लाउज मैटेरियल में अच्छी मांग निकल रही थी लोन एवं कॉटन प्रिंट कॉटन की अच्छी मांग चल रही थी रूबिया टू बाई टू समर सीजन के लिए कॉटन लिनन फैब्रिक की मांग की थी ।वही लॉकडाउन लगने के बाद व्यापारियों का काम रुक गया था। जिसको लेकर व्यापारियों  में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इसी प्रकार लग्न के लिए साड़ी लहंगा एवं लाचा, लुगड़ी में थोक एवं रिटेल  स्तर पर  मांग अच्छी बनी हुई थी ।अप्रैल के पहले पखवाड़े के  दौरान ड्रेस ब्लाउज मैटेरियल में जोरदार ग्राहकी चल रही थी मिलों एवं पावर लूम सभी फैब्रिक्स में अच्छा कारोबार चल रहा था लोन प्रिंट कॉटन की मांग जोरों पर थी।  ड्रेस एवं मटेरियल समर सीजन की ग्राहकी परवान पर थी। उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन एवं कर्फ्यू लगने के बाद अनेक विवाह कार्यक्रम लोगों ने निरस्त कर दिए। प्राप्त जानकारी के अनुसार गंगापुर सिटी सवाई माधोपुर जिले में करीब इस सीजन में 3000 शादी ब्याह  होने वाले थे । जिससे अब गिने चुने शादी विवाह संपन्न होने की आशा है।  वैवाहिक सीजन के दौरान होटल, मैरिज गार्डन,  धर्मशाला, टैण्ट, बैण्ड बाजा, घोड़ी ,डीजे, सजावटी सामान, कैटर्स, ब्यूटी पार्लर, पंडित आदि की संबंधित लोगों ने बुकिंग कैंसिल करा ली।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer