उत्तर प्रदेश सरकार ने भी चीनी मिलों को ऑक्सीजन का उत्पादन करने का दिया सुझाव

उत्तर प्रदेश सरकार ने भी चीनी मिलों को ऑक्सीजन का उत्पादन करने का दिया सुझाव
महाराष्ट्र और कर्नाटक के बाद 
डी. के. 
मुंबई । ऑक्सीजन से जूझ रहे भारत में अब नए ऑक्सीजन उत्पादन प्रयोग शुरू हो गए हैं। महाराष्ट्र में चीनी मिलों की सफलता के बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी प्रदेश की चीनी मिलों को ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू करने की सिफारिश की है।   
चूंकि उत्तर प्रदेश में गंभीर कोविड-19 ने मरीजों के लिए ऑक्सीजन की भारी कमी पैदा कर दी है, इसलिए राज्य सरकार ने अब प्रदेश की 120 चीनी मिलों को ऑक्सीजन जनरेटर खड़ा कर युद्ध स्तर पर ऑक्सीजन पैदा करने और इस अभियान में राज्य सरकार की सहायता करने की सिफारिश की है। ये ऑक्सीजन जनरेटर हवा से ऑक्सीजन लेकर उसे मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन में बदल देंगे जिससे मरीज को सप्लाई किया जा सकेगा और हाई प्रेशर के जरिए सीधे पाइप लाइन के जरिए आसपास के जिलों के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी।   उत्तर प्रदेश सरकार के संबंधित अधिकारियों ने चीनी मिलों से जिले के 50 बेड के अस्पतालों या सरकारी अस्पतालों में सीधे ऑक्सीजन उपलब्ध कराने को कहा है, जहां कोविड-19 के मरीजों का इलाज चल रहा है। सरकार फिलहाल ऐसे 120 प्लांट युद्ध स्तर पर शुरू करने को तैयार है।   
उल्लेखनीय है कि सबसे पहले महाराष्ट्र के उस्मानाबाद में एक चीनी मिल ने सबसे पहले अपनी मिल में अपने उपकरणों में कुछ बदलाव कर ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू किया था। 20 टन ऑक्सीजन का उत्पादन यह मिल रोजाना करती है।  महाराष्ट्र की मिल के इस प्रयोग के बाद सभी ने देखा कि जिस चीनी मिल में इथेनॉल बनाने की क्षमता है, उसमें ऑक्सीजन उत्पादन शुरू किया जा सकता है।    
कर्नाटक सरकार ने महाराष्ट्र मिल की सफलता के बाद स्थानीय चीनी मिलों से ऑक्सीजन जनरेटर स्थापित करने का भी आग्रह किया। हालांकि कर्नाटक में और भी कई मिलें हैं, जहां ऑक्सीजन जनरेटर खड़े किए जा सकते हैं। लेकिन कई मिलों को बुनियादी ढांचे की कमी के कारण उत्पादन शुरू होने में चार से छह महीने लग सकते हैं। सरकार ने आने वाले दिनों कभी भी कोविड-19 को रोकने के लिए ऑक्सीजन उत्पादन सुविधा स्थापित करने की वकालत की है। अब भी देश में कोविड-19 की तीसरी या चार लहर का डर अब भी उच्चतम स्तर पर डॉक्टरों को सता रहा है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer