रबड़ वायदा में बाजार के प्रतिभागियों की बढ़ती दिलचस्पी

मुंबई । अग्रणी कमोडिटी डेरिवेटिव्स एक्सचेंज एमसीएक्स द्वारा रबड़ कांट्रैक्ट को 28 दिसंबर, 2020 को लॉन्च किया गया था। बाजार के प्रतिभागियों ने रबड़ वायदा कांट्रैक्ट्स को व्यापक रूप से स्वीकार कर लिया है और एक्सचेंज हेजिंग के लाभों के बारे में जागरूकता फैलाने के अपने प्रयास जारी रखेगा। 
एक्सचेंज के प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध, इन रबड़ वायदा का उद्देश्य रबड़ के उत्पादकों, व्यापारियों, निर्यातकों, आयातकों और टायर उद्योग जैसे अंतिम उपयोगकर्ताओं जैसे मूल्य श्रृंखला के प्रतिभागियों को घरेलू और वैश्विक दोनों फिज़ीकल बाजारों में एक उचित और पारदर्शी भाव खोज का ऐसा तंत्र प्रदान करता है, जो फंडामैंटल्स को दर्शाता है। 
एमसीएक्स पर रबड़ का व्यापक कारोबार होता है, नतीजतन, एक्सचेंज पर हाल ही में 25 मई, 2021 को रु.4.50 करोड़ का 256 लॉट (एमटी) का सबसे अधिक कारोबार दर्ज हुआ। एमसीएक्स पर रबड़ वायदा के लॉन्च के बाद से अब तक में पलक्कड़ के मान्यता प्राप्त गोदाम में 800 मीट्रिक टन से अधिक की डिपोज़ीट्स है। एक्सचेंजज के रबड़ कांट्रैक्ट में ओपन इंटरेस्ट और डिलिवरी अत्यंत प्रगतिशील है और कांट्रैक्ट की सफलता के लिए एक सकारात्मक कारक है। 
इस बारे में अधिक प्रकाश डालते हुए कन्नूर, केरल के प्रिया एसोसिएट्स के राजेश जोस ने कहा है कि, जोखिम प्रबंधन के लिए बाजार के प्रतिभागियों के लिए एमसीएक्स रबड़ वायदा महत्वपूर्ण है और हमें खुशी है कि लॉन्च के बाद से रबड़ कांट्रैक्ट में सबसे ज्यादा वॉल्यूम दर्ज हो रहा है। 
पल्लकड, केरल की नेशनल ट्रेडिंग कंपनी के एमडी एके शशिधरन ने कहा कि, एमसीएक्स रबड़ कांट्रैक्ट बाजार के प्रतिभागियों के लिए बहुत फायदेमंद है, क्योंकि इसने हमें अपने भाव जोखिम के सामने हेज करने का एक दृष्टिकोण प्रदान किया है। एमसीएक्स के रबड़ वायदा को नई ऊंचाई को छूते हुए खुशी हो रही है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer