कपड़े के उत्पादन में रफ्तार बढ़ने की उम्मीद

कपड़े के उत्पादन में रफ्तार बढ़ने की उम्मीद
हमारे संवाददाता
उतर प्रद्रेश के अधिकांष जिलो को लाकडाउन से मुक्त करने के बाद से बाजारो मे कामकाज होने लगे है। कारखानो मे कपडे का उत्पादन होने लगा है। श्रमिक काम पर आने लगे है। मिलो ने धागे के भाव बढाये । कोर्स काउट व नोन डाईग के धागे के भाव बढे है। मिलो की सीटिंग मे भी बढाकर के बोले जाने की खबर है। दिसावर की मंडियो से तैयार मालो के आर्डर आने आरम्भ हो गये है। कारोबारी बाजारो की स्थिती को ध्यान मे रखते हुए नकद मे ही मालो को बैच रहे है।  
व्यापरिक सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार मिलो ने कोर्स काउट के अलावा नोन उज्ञईंग के धागे के भाव काफी बढा दिये हैं । नोन डाईंग मे 10 कोन , 14 कोन , 2/10 कोन , ओपन डाईंग मे 6 कोन , 10 कोन , 2/6 कोन , 14 कोन ,20 कोन , 2/20 कोन आदि धागो मे काफी तेजी आाड्ड है। मिल सूत्रो का कहना है कि 10 से पद्रह रूपये किलो तक की तेजी है। ठीक इसी प्रकार से नोन डाईक के धागो मे भी तेजी का वाता वरण है। बाजारो मे धागे की बिक्री निकलने से मिल वाले उत्साहित है। धागे का बाजार मिल वालो के हाथ मे है। कोम्बर मे तेजी के कारण ही मिल वाले धागे मे भ्राव बढाये जाने की मजबूरी बता रहे है।  
 कारखानो मे मे कपडे का उत्पादन हो या कपडे की छपाई ही क्यो न हो रमिक काम पर आने लगे है। काफी समय से कम चल रही मषीनो पर अब उत्पादन होने लगा है । आने वाले दिनो मे कपडे के उत्पादन पर रफतार बढ सकती है। वहि दिसावर से तैयार मालो की पूछपरख बढने से सप्लायरो का भी मनोबल बढने लगा है।  
चादर व अन्य सूती मे काम करने वाले कारोबारियो का कहना है कि माँग तो आ रही अब केवल उन्ही काराबारियो को तैयर माल सप्लाई दिया जा रहा है जिनका का भुगतान सही है। जिनका भुगतान बढिया नही है ऐसे व्यापारियो को नकद मे ही माल दिया जा रहा है।अब बाजारो की स्थिती को सामान्य होने मे समय लगेगा । जब अन्य राज्यो मे स्थ्ती कोविड की सामान्य नही हो जाती है तब तब ऐसा ही चलता रहेगा । बाजारो के क्षलने से जो संषय के बादल छटने से दुकानदार अब उत्साहित है।जैसे जैसे लोगो की खरीददारी निलेगी तब ही बाजारो मे  पैसे की चाल बनेगी ।  

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer