मई में निर्यात 67 प्रतिशत बढ़कर $ 32.21 अरब पर पहुंचा, व्यापार घाटा $ 6.32 अरब

मई में निर्यात 67 प्रतिशत बढ़कर $ 32.21 अरब पर पहुंचा, व्यापार घाटा $ 6.32 अरब
नयी दिल्ली । सरकार के बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक भारत का निर्यात मई में 67.39 प्रतिशत बढ़कर 32.21 अरब अमेरिकी डॉलर पर पहुंच गया।   वाणिज्य मंत्रालय के प्रारंभिक आंकड़ों के मुताबिक इस दौरान इंजीनियरिंग, पेट्रोलियम उत्पादों और रत्न एवं आभूषण के निर्यात में खासतौर से तेजी देखी गई। हालांकि, इस दौरान व्यापार घाटा बढ़कर 6.32 अरब डालर पर पहुंच गया।   मई 2020 में निर्यात 19.24 अरब अमेरिकी डॉलर और मई 2019 में यह 29.85 अरब अमेरिकी डालर रहा था। बयान के मुताबिक मई 2021 में आयात में भी अच्छी वृद्धि हुई और यह 68.54 प्रतिशत बढ़कर 38.53 अरब डॉलर पर पहुंच गया, जो मई 2020 में 22.86 अरब डॉलर और मई 2019 में 46.68 अरब डॉलर रहा था। मंत्रालय ने कहा, ``भारत इस तरह मई 2021 में 6.32 अरब अमेरिकी डालर के व्यापार घाटे के साथ शुद्ध आयातक रहा है। मई 2020 में व्यापार घाटा 3.62 अरब डॉलर था। व्यापार घाटे में मई 2020 के मुकाबले 74.69 प्रतिशत की वृद्धि हुई। वहीं मई 2019 के व्यापार घाटे 16.84 अरब डालर के मुकाबले इसमें 62.49 प्रतिशत की गिरावट आई है।'' समीक्षाधीन महीने में तेल आयात बढ़कर 9.45 अरब अमेरिकी डॉलर हो गया, जबकि मई 2020 में यह 3.57 अरब अमेरिकी डॉलर था। मई 2019 में 12.59 अरब डालर का पेट्रोलियम पदार्थ़ों का आयात हुआ था।   इस साल अप्रैल-मई के दो महीनों के दौरान निर्यात बढ़कर 62.84 अरब डॉलर हो गया, जो पिछले साल की इसी अवधि में 29.6 अरब डॉलर और अप्रैल-मई 2019 में 55.88 अरब डॉलर रहा था।
अप्रैल-मई 2021 के दौरान आयात 84.25 अरब अमेरिकी डॉलर रहा, जो अप्रैल-मई 2020 में 39.98 अरब डॉलर और अप्रैल-मई 2019 में 89.07 अरब डॉलर था। विदेश व्यापार आंकड़ों पर टिप्पणी करते हुए भारतीय व्यापार संवर्धन परिषद (टीपीसीआई) के संस्थापक अध्यक्ष मोहित सिंगला ने कहा कि अखबारी कागज, परिवहन उपकरण और लोहा तथा इस्पात के आयात में गिरावट आना आत्मनिर्भरता की दिशा में स्वागत योग्य कदम है और इससे पता चलता है कि इस दिशा में सरकार की रणनीति कारगर रही है।  

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer