अर्थव्यवस्था में अगले महीने से सुधार के संकेत

अर्थव्यवस्था में अगले महीने से सुधार के संकेत
कोरोना पर अंकुश से कई राज्यों में अनलॉक की प्रक्रिया शुरू
रमाकांत चौधरी
नई दिल्ली । देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से देश की अर्थव्यवस्था की गति को प्रभावित कियि है.बहरहार कोरोना महामारी की दूसरी पर कमोबेश अंकुश लगने लगा है.जिससे कई राज्य सरकारों की तरफ से अनलाक की प्रक्रिया शुरु कर दी है.ऐसे में देश की अर्थव्यवस्था में अगले महीने से सुधार होने लगेगा.  दरअसल मोदी सरकार के मूख्य आर्थिक. सलाहकार के वी सुब्रमण्यम ने कहा कि राज्यों ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर की भयावह स्थिति को देखते हुए जो लाकडाउन लगाए थे वह अब हटाना शुरु कर दिया है क्योंकि कोरोना महामारी कु दूसरी लहर अब थमती हुई दिख रही है.
ऐसे में यदि कोरोना महामारी के टीकाकरण अभियान में तेजी लाई जाती है तो देश की अर्थव्यवस्था में सुधार होना शुरु हो जाएगा.उन्होने कहा कि भारत इस वर्ष दिसम्बर तक सभी के लिए टीकाकरण हासिल करने में सक्षम होगा.उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी का देश के राजकोषीय घाटे के लक्ष्य और विनिवेश लक्ष्य पर कोई असर पड़ने वाला नहीं है.उन्होंने कहा कि यदि हम रोज तीन चरणों में टीका लगाते हैं तो हम एक दिन मैं एक करोड़ लोगों को वैक्सीन लगा सकते है. उन्होंने कहा कि यह लक्ष्य निश्चित रुप से महत्वाकांक्षी लगते हैं बहरहाल यह नामुमकिन नहीं है. मैंने भी वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है .ऐसे में सभी लोग जितना जल्दी हो सके वैक्सीन लगवा लें.उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी कु दूसरी लहर में देश में जारी टीकाकरण अभियान कोरोना के असर को काफी कम कर सकता है. ऐसे में लोग जितना जल्दी हो सके वैक्सीन लगवा लें.इससे कोरोना महामारी की तीसरी लहर का असर कम होगा.इससे हमारे ऊपर उतना असर नहीं पड़ेगा जितनी आशंका थी.

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer