मौजूदा भाव पर लेवाली कमजोर, सूत में गिरावट की आशंका

शेयर मार्केट नित नये उच्चांक बनाते हुए आज तक का उच्चतम 58553=07 का आंकड़ा बनाकर ऊपरी स्तरो पर झूल रहा है। प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी विश्व में नम्बर वन नेता की चर्चा चल रही है। ओलम्पिक और पैरा ओलम्पिक में अच्छे प्रदर्शन की प्रशंसा करे उतनी कम ही होगी। खेल में हार-जीत और भावों में घट-बढ़ तो होती रहती है। अर्थव्यवस्था में ग्रोथ और जीएसटी के आंकड़े भी बेहतर आ रहे है। अच्छी बरसात से खेती-बाड़ी में खाद्यान की उपज भी अच्छी ही होगी। अब डर तो तीसरी लहर का बना हुआ है। हर मार्केट में तेजी का माहौल बना हुआ है। शक्कर 34 से 39 रु. तथा रद्दी पेपर भी 10-12 से 20 रुपया किलो हो गया है। आम आदमी सरकारी सुविधाओं का लाभ लेने को गरीब है। जब आप पेपर बांटने वाला, झाडू बेचनेवाला, चादर बेचनेवाला, कम्बल बेचने वाला, मजदूर भी कार्य स्थल पर मोटरसाईकिल से आता है हर आदमी के पास अच्छा खासा मोबाइल होता है। अब तो अपने आपको अल्पसंख्यक और ओबीसी बनाने की होड़ मची है। ये सब सीधा राजनीति को प्रभावित करती है। इसलिए कुछ नेता या जनता हमेशा धरना, आंदोलन में लगी रहती है। इससे विकास और उन्नति की प्रक्रिया प्रभावित होती है।
टेक्सटाइल इण्डस्ट्रीज का पावलूम सेक्टर सूत और कपड़ा बाजार के भावतावों में कमजोरी महसूस कर रहा है। सूती धागा एकतरफा तेजी के माहौल में चल रहा है। पी.सी. और रोटो में भी यही हाल है। अब बाजार नहीं बढ़ते है तो घटने की उम्मीद हो जाती है। सूत बाजार में व्यापार तो होता रहता ही है। कपड़ा में भी रेडीरेडी व्यापार की तरह सूत बाजार में भी व्यापार हो रहा है।
सूती धागा : सूती धागे में कपास और यार्न के निर्यात की संभावनाओं ने बाजार में भाव बढ़ने लगे और बढ़ते रहे। थोड़ा ब्रेक के बाद वापस भाव बढ़ जाते है। अब भाव एक लेबल पर आये हैं, युवा सूत व्यवसायी अशोक सोमाणी मोदा (शुभम् टेक्सटाइल) ने बताया कि अब व्यापार का रंगरूप बदल गया है। बाजार भी पूरी तरह नहीं भाता, बुनकर जहां काम चलता है वहीं से यार्न ले लेता है। लूम तो चलाने के लिए विवर को यार्न लेना ही पड़ता है। कपड़ा में व्यापार होने से कुल मिलाकर हाल-चाल अच्छे हो सकते है।
रोटो और पी.सी.: रोटो का यार्न बढ़कर सप्ताह में लगभग स्थिर है। कपड़ा ठीक होकर बिकने से रोटो के यार्न में व्यापार भी ठीक हुआ है। इसलिए यार्न में व्यापार कमजोर है। पी.सी. के यार्न में भाव दो सप्ताह से रुके है। अब बाजार में 5/7 रुपया किलो वाली घटबढ़ चलती है।
भावताव : 28 वार्प से 1280 से 1290/ 30 वार्प 1280 से 1310/34 वेफ्ट 1240 से 1300/38 वार्प 1390/40 वार्प 14000/44 वार्प 2+2 का 1490 तथा 60 वेफ्ट 1480 से 1500 सभी भाव 5 किलो जीएसटी सहित है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer