तीसरी लहर का असर अधिक नहीं रहा तो आगामी समय बेहतर होगा

बरसात का मौसम बना हुआ है, पूरे नाशिक जिले में अच्छी बरसात है। सावन (श्रावण) के अंधे को हरियाली दिखती है, वह अब आई है। खेती-बाड़ी के लिए बहुत अच्छी बरसात है। इन दिनों सब्जियों के भाव भी काफी कम हो जाते है। नाशिक जिले में फल उत्पादन भी अच्छा होता है। ज्यादातर ताजे फल और सब्जियां मंडी में उपलब्ध रहती है।
टेक्सटाइल इण्डस्ट्रीज कुछ कम-कुछ ज्यादा, कभी खुशी, कभी गम वाली बात में चल रहा है। कपड़ा और सूत बाजार में घटे भावों में कामकाज तो हो रहा है। अब पहले जैसे लंप संप व्यापार, तगड़ी बुकिंग और डेढ़-दो महीने तक का कपड़ा बिकना और यार्न की बुकिंग वाला काम नहीं रहा है। अब रेडी-रेडी माल बिक रहा है। कपड़ा बाजार में कुल मिलाकर कमजोरीवाला माहौल है। जैन पर्व पर्यूषण के बाद श्राद्ध पक्ष ही बाधा बनती है। अगर कोई आपदा-विपदा नहीं आई तो सभी व्यापार चलने की आशा और उम्मीद नजर आती है।
पापलीन और कैम्ब्रिक : पापलीन और कैम्ब्रिक के बाजार भाव कमजोर नजर आते है रेडीरेडी में व्यापार हो भी रहा है। मालेगांव में युवा व्यवसायी शेखर अग्रवाल, अग्रवाल साईजिंग एंड टेक्स. इंड. ने बताया कि मालेगांव में बिजली वितरण व्यवस्था में गड़बड़ी होने से कपड़ा उत्पादन कम हो रहा है और लूम्स का पैकिंग भी कमजोर है। इसमें कपड़ा बाजार को फायदा हो सकता है। यार्न में लेवाली कमजोर रहेगी और कपड़े में डिमान्ड रहेगी। 56x52 कैम्ब्रिक 21.40 से घटकर 21.10 से 21.20 के भाव हो गये है।
रोटो और पी.सी.: रोटो में दो सप्ताह पहले कुछ क्वालिटी के भाव बढ़े, अब उनमें घटने लगे है। पी.सी. में भाव स्थिर है। सूत बाजार में अगर नहीं बढ़ता है, तो बुनकर मंदी में आ जाता है। फिर बढ़ते भावों में एक साथ लेवाली आती है। कपड़ा बाजार में कपड़ा विपदा का डर और भय बना हुआ है। अगर इससे बाहर आये तो सभी बाजार अच्छी तरह चल सकते है।
इचलकरंजी (महाराष्ट्र) मंडी के हालचाल - कोल्हापुर जिले में इचलकरंजी को मेनचेस्टर आफ महाराष्ट्र कहा जाता है। टेक्सटाइल का भारत में उच्च श्रेणी का कालेज बढ़ीया है। धोती बनाने में मशहूर सादे लूम के बाद अब ओटोलूम तथा शटल लेस लूम्स की नई मंडी तैयार हो गई है। आसपास के क्षेत्रों में लूम्स, साईजिंग और स्पिनिंग मिलों का क्षेत्र रहा है। श्री हरिप्रोसेर्स के युवा उद्यमी कमल खंडेलवाल ने बताया कि सादे लूम्स पर काटन ऐर पोलिएस्टर की धोती के टेंडर होने में व्यापार बहुत अच्छा रह रहा है। कैम्ब्रिक, पापलीन और मलमल चलाने वालों के दिन अभी भी अच्छे नहीं हुए है। ओये लूम्स पर जाबदर नीचले स्तर पर 10 पैसा पीक चल रही है। इचलकरंजी में प्रोसेस और डाइúग का कार्य प्लस है। लगभग 30 से 35 प्रोसेस पावर, हेण्डवाली कार्यरत है। हालही में राजस्थानी मंडल के अध्यक्ष नियुक्त हुए है। व्यापार के साथ सामाजिक, धार्मिक, खेलकूद के आयोजन होते है। यहां का जीवन स्तर बहुत अच्छा है। व्यापारी समाज एक दूसरे के संबंधी भी है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer