टेक्सटाइल पीएलआई स्कीम का नोटिफिकेशन इस महीने के अंत में

टेक्सटाइल पीएलआई स्कीम का नोटिफिकेशन इस महीने के अंत में
एपरल के 40 और मैनमेड फाइबर के 14 एचएसएन को स्कीम का मिलेगा लाभ    
विशेष संवाददाता  
मुंबई। टेक्सटाइल उद्योग के लिए मंजूर हुई 10,683 करोड़ रुपये की प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेन्टिव (पीएलआई) स्कीम का नोटिफिकेशन इस महीने के अंत तक आ जाएगा।  
टेक्सटाइल सचिव उपेंद्र प्रसाद सिंह के अनुसार इस नोटिफिकेशन का मसौदा लगभग तैयार है। टेक्सटाइल मंत्रालय इसकी घोषणा से पूर्व विभिन्न मंत्रालयों के साथ विचार-विमर्श कर अंतिम फेरबदल जो उचित होगा करेगा।  
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को टेक्सटाइल क्षेत्र के लिए पीएलआई स्कीम की घोषणा की। इस स्कीम के अंर्तगत एपरल के 40 एचएसएन (हार्मनाइज्ड सिस्टम ऑफ नामेनक्लेयर) मेनमेड फाइबर के 14 एचएसएन और दस टेक्निकल टेक्सटाइल प्रोडक्ट्स को समाहित किया गया है। एपरल के जो एचएसएन है, उसमें जर्सी, पुलओवर्स, कार्डिगनस, वेस्टकोट और रेनकोट हैं। इन सभी प्रकार के टेक्सटाइल की विश्व में भारी मांग है, लेकिन भारत में कम उत्पादन के कारण निर्यात में इसकी हिस्सेदारी सीमित है।   
टेक्सटाइल के विशेष सचिव विजोय कुमार सिंह ने कहा कि स्वदेशी और विदेशी उद्यमियों को पीएलआई स्कीम का लाभ मिल सकेगा। यदि अधिक आवेदन प्राप्त होते हैं, तो पिछड़े क्षेत्रों में संयंत्र की स्थापना, निवेश के आकार जैसे कारकों को ध्यान में रखा जाएगा।   
सरकार को लगता है कि पीएलआई स्कीम गुजरात, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, पंजाब, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और उड़ीसा में कपड़ा इकाइयों में निवेश आकर्षित होने की संभावना है।   
इस स्कीम के कारण टेक्सटाइल उद्योग में 19,000 करोड़ रुपये का नया निवेश आएगा। उद्योग के कारोबार में 3 लाख करोड़ रुपये की वृद्धि होगी और 7.50 लाख प्रत्यक्ष रोजगार का निर्माण होगा। सरकार को उम्मीद है कि अनुशांगिक क्षेत्र में भी बड़ी संख्या में नए रोजगार सर्जित होंगे। 

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer