नवरात्र, दशहरा, दीपावली पर अच्छी ग्राहकी की संभावना

नवरात्र, दशहरा, दीपावली पर अच्छी ग्राहकी की संभावना
हमारे संवाददाता
गंगापुर सिटी समेत आसपास क्षेत्र में  पिछले दिनों से बरसात का दौर जारी है। जिससे एक और मौसम सुहाना हो गया है तो दूसरी ओर खरीफ फसल को नया जीवनदान मिला है। बरसात से आगामी रबी  फसल की पैदावार भी अच्छी होने की संभावना बन गई है। वही बरसात से वर्षा जनित मौसमी बीमारियों का प्रकोप बना हुआ है जिससे यहां के वाशिंदों को जटिल परिवेश से गुजारना पड़ रहा है। इस वर्ष गंगापुर सिटी क्षेत्र में अब तक करीब 660 मिलीमीटर बरसात हो चुकी है जो औसत बरसात से अधिक है। कृषि विभाग के अनुसार इस वर्षा से कृषि को अधिक लाभ हुआ है। वहीं  अच्छी पैदावार उतरने की संभावना है।                                     
उल्लेखनीय है कि मानसून की बरसात का दौर अगस्त माह में ठप रहा।  वही सितंबर माह के शुरू होने के साथ ही बरसात का दौर शुरू हो गया। रुक रुक कर बरसात जारी है।  इस बार खाद्यान्न, दलहन और तिलहन आदि की फसल अच्छी उतरने की संभावना है। 20 सितंबर से पितृ पक्ष अर्थात श्राद्ध पक्ष शुरू हो गया है जो 6 अक्टूबर तक चलेगा। इस दौरान कपड़ा बाजार समेत सभी वस्तु बाजारों में ग्राहकी नगण्य  रहेगी । श्राद्ध पक्ष के चलते दान पुण्य में काम आने वाले कपड़ा परिधान गमछा, धोती-कुर्ता, अण्डी, सुआपी, टावल, आदि सस्ती रेंज में मांग बनी हुई है।
7 अक्टूबर नवरात्रा शुभ आरंभ होने के साथ ही कपड़ा बाजार समेत सभी वस्तु बाजारों में महिला पुरुष उपभोक्ताओं की चहल पहल की सुगबुगाहट शुरू हो जाएगी।
 दुर्गा पूजा  दशहरा ,दीपावली पर्व, छठ पूजा एवं वैवाहिक सीजन तथा विंटर सीजन तक कपड़ा समेत सभी परिधानों में अच्छी ग्राहकी निकलने की धारणा है। कपड़ा व्यापारी इसके प्रति पूर्णरूपेण सजगता बरत रहे हैं।                                    मैसर्स राहुल कुमार रजत कुमार थोक विक्रेता के संचालक जीतेंद्र बाजाज, राहुल बजाज एवं रजत बजाज , मैसर्स इंडियन क्लांथ स्टोर के संचालक भविष्य कुमार एवं प्रमोद सागर, मैसर्स दामोदर लाल गुप्ता क्लॉथ मर्च़ेंट के संचालक  दामोदर लाल बजाज एवं गोपाल बजाज, मैसर्स मोतीलाल लक्ष्मी नारायण के संचालक संजय गोयल एवं नितिन गोयल, मैसर्स ए वन क्लॉथ स्टोर के संचालक अनवर खान एवं अकबर खान, मैसर्स श्री श्याम गारमेंट्स के संचालक नंदकिशोर गुप्ता एवं पंकज गुप्ता एवं मैंसर्स पंकज गारमेंट्स के संचालक रोहित सिंघल ने बताया कि फेस्टिवल एवं वैवाहिक सीजन समीप आ रहा है लेकिन बाजार में मामूली कारोबार हो रहा है ।
उन्होंने बताया कि बाजार में  सीजन के लिए   थोक में  पूछ परख आरंभ हो चुकी है लेकिन अभी सीजन जैसी बात नहीं है । वहीं ग्राहकी पर कोरोना महामारी  की तीसरी लहर का डर का असर दिख रहा है। कारोबारी आगामी सीजन को मद्देनजर रखते हैं  कारोबारी गतिविधियां तेज कर दी है। बाजार में मामूली हिल-डुल हो रही है। वही आगामी सीजन त्यौहारी, लग्नसरा एवं  विंटर सीजन के लिए निर्माता अपनी तैयारी कर चुके हैं और डीलरों के पास नए  मालों की चालानी आरंभ हो चुकी है लेकिन अभी उठाव  बहुत सीमित है ।बाजार में बहुत मामूली  हिल-डुल हुई है। आशा की जा रही है कि नवरात्रों से बाजार में पूरी रौनक एवं चहल-पहल लौट आएगी।  व्यापारी नया माल भी ले रहे हैं और भुगतान भी दे रहे हैं। कोरोना महामारी की तीसरी लहर के डर से कुछ व्यापारी भुगतान देने में हाथ  रोक रहे हैं और अभी नया माल भी नहीं ले रहे हैं ।बाजार में आर्थिक संकट का दौर बना हुआ है। थोक का व्यापारी अब उन व्यापारियों को माल देने में सतर्कता बरत रहे हैं ।जिनका भुगतान का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है उन्हें नया माल नहीं दे रहे हैं। वही  जिन व्यापारियों का पेमेंट का रिकॉर्ड अच्छा है उन्हें नया माल मिल रहा है।    
कपड़ा बाजारों में कपड़े के अधिकांश  किस्मों में बिक्री की रफ्तार धीमी है ।सूटिंग शटिंग में अगले त्यौहारी  वैवाहिक मौसम को लेकर  थोक स्तर पर ग्राहकी खुल रखी है और आगे कारोबार का दायरा बढ़ने की आशा है जिसको लेकर कपड़ा व्यापारी सुसज्जित है। सूटिंग शटिंग में कांम्बी  पैकिंग की मांग निकली है वूलन सूटिंग  में यूनिफॉर्म फैब्रिक्स एवं  टी आर   में  मांग निकली है। प्रमुख मिलों के सूटिंग शर्टिंग मालों में ग्राहकी सीमित है। इसी प्रकार भीलवाड़ा के मालों में ग्राहकी सीमित है। देश एवं ब्लाउज मैटेरियल में ग्राहक की धीमी पड़ी है ।व्यापारियों का कहना है कि नवरात्रों से ग्राहकी में तेजी की संभावना है। सूरत की ड्रेस में अभी काम  सीमित  है ।
अरविंद एवं संगठित मिलो के मालों में  मामूली पूछ परख बनी हुई है। इसी प्रकार लांन, पापलीन, कैमब्रिक, लट्ठे, रेयान प्रिंट, लाइनिंग,अस्तर, पेटीकोट, रुबिया, पगड़ी, धोती-कुर्ता धोती, गमछा खद्दर मारकीन, लिजीबिजी,सेंटून,सेंटून ,रोटो, सेंचुरी, आदि मालों में भी पूछ परख बनी हुई हैऔर आगे  कारोबार का दायरा बढ़ने की संभावना है। पांपलीन में आगे वेंडिंग सीजन रहेगा। आगे फेस्टिवल सीजन मांग के साथ वैवाहिक ग्राहकी पर भी जोर रहेगा। भविष्य में त्यौहारी मांग के साथ साथ वैवाहिक ग्राहकी पर जोर रहेगा। यहां कपड़ा बाजार में अगले त्यौहारी सीजन एवं वैवाहिक सीजन को लेकर ग्राहकी की धमक बढ़ रखी है। आगे कारोबार का दायरा बढ़ने की संभावना है। लेडीज सूट्स दुपट्टा सहित गरारे ,शरारे, आदि किस्मों में कारोबारी गतिविधियां सुधार की ओर अग्रसर हैऔर आगे कारोबार शानदार चलनै की संभावना है। इसी प्रकार आगे त्यौहारी एवं , वैवाहिक एवं शीतकालीन मौसम को लेकर साड़ियां, लहंगा चुनरी,लांचा, क्रांप टांप, गाउन जैसी किस्मों में सकारात्मक वातावरण बनेगा।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer