सोनी के साथ प्रस्तावित गठजोड़ के बाद जी के शेयर का हिस्सा 47.31 प्रतिशत रहेगा

सोनी के साथ प्रस्तावित गठजोड़ के बाद जी के शेयर का हिस्सा 47.31 प्रतिशत रहेगा
घटते दर्शकों की समस्या का समाधान भी मिलता रहेगा 
मुंबई। सोनी पिक्चर्स नेटवर्कस (एसपीएन) के साथ जी इंटरटेनमेंट एंटरप्राइसिस (जी) के प्रस्तावित मर्जर के कारण द्ब्ररत्त्” के ढ़ाचागत समस्या आने की धारणा है। जी का घटता बाजार हिस्सा स्ट्रीमिंग प्लेटफार्मस के सामने स्पर्धा का अच्छी तरह से मुकाबला कर सकेंगे। एनालिस्ट्स के लिए कार्पोरेट गर्वनेंस के मानकों का पालन और स्ट्रीमिंग प्लेटफार्मस में हिस्सा बढ़ने की समस्या अधिक चिंता प्रेरक है। प्रमुख मीडिया कंपनी जी इंटरटेनमेंट और सोनी पिक्चर्स ने 22 सितम्बर 2021 को कहा कि उन्हें विलय के लिए सैद्वांतिक मंजूरी मिल गई है।जिसके बाद जी एंटरटेनमेंट और सोनी पिक्चर्स कंपनियों के लीनियर नेटवर्क,डिजिटल एसेट्स, प्रोडक्शन ऑपरेशन और प्रोग्राम लाइब्रेरी को साथ लाया जाएगा।जिसके तहत जी इंटरटेनमेंट लिमिटेड (जील) के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी पुनीत गोयनका विलय के बाद बनी इकाई का नेतृत्व करेंगे।
दरअसल सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (एसपीएनआइ) की तरफ से कहा गया है कि उसकी मूल कंपनी सोनी पिक्चर्स एंटरटेनमेंट आगे और निवेश करेगी ताकि एसपीएनआइ के पास लगभग 1.575 अरब डॉलर का नकद अधिशेष हो सके।वहीं जील की तरफ से कहा गया है कि जील और एसपीएनआइ के मौजूदा अनुमानित इक्विटी मूल्यों के आधार पर जील के पक्ष में सांकेतिक विलय अनुपात 61.25 प्रतिशत है।जिसके तहत एसपीएनआइ में प्रस्तावित निवेश के बाद नई इकाई में जील की हिस्सेदारी 47.07 प्रतिशत व शेष 52.93 प्रतिशत हिस्सेदारी एसपीएनआइ के पास रहने की उम्मीद है।इस संयुक्त इकाई के पास 70 से अधिक टीवी चैनल,दो वीडियो स्ट्रीमिंग सर्विसेज (जी5 और सोनी लिव) और दो फिल्म स्टूडियो (जी स्टूडियो और सोनी पिक्चर्स फिल्म्स इंडिया) होंगे।यह देश का सबसे बड़ा एंटरटेनमेंट नेटवर्क होगा।वहीं जील की तरफ से कहा गया है कि 21 सितम्बर 2021 को हुई उसकी बोर्ड की बैठक में सर्वसम्मति से एसपीएनआइ और कंपनी के विलय को सैद्वांतिक मंजूरी दी गई।इस विलय के बाद बनी कंपनी भारत में सार्वजनिक रुप से सूचीबद्व होगी।इसके अतिरिक्त सौदे की शर्तो के तहत प्रमोटर सुभाष चंद्रा परिवार अपनी हिस्सेदारी को मौजूदा चार प्रतिशत से बढाकर 20 प्रतिशत कर सकता है।
पुनीत गोयनका मर्जर के बाद नई कंपनी के एमडी-सीईओ बने रहेंगे 
जी एंटरटेन्मेंट इंटरप्राइजेस लिमिटेड (जील) और सोनी पिक्चर्स नेटवकर्स इंडिया के बीच विलय  को लेकर बड़ी खबर सामने आई है। दोनों दिग्गज कंपनियों के एंटरटेनमेंट बोर्ड ने मर्जर का ऐलान किया है। ज़ी एंटरटेनमेंट के बोर्ड ने मर्जर के लिए सैद्धांतिक मंजूरी भी दे दी है। मर्जर के बाद सोनी सबसे बड़ा स्टेकहोल्डर होगा। सोनी ने जील के मैनेजमेंट को बनाए रखने पर भरोसा जताया है। पुनीत गोयनका  मर्जर के बाद बनने वाली नई कंपनी के एमडी और सीईओ बने रहेंगे। मर्जर के बाद नई कंपनी भी भारतीय शेयर बाजार में लिस्टेड होगी। 

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer