रेडीमेड वस्त्र और कपड़े पर खेरची तरफ ग्राहकी का दबाव बढ़ा

कपड़ा मंडी में त्योहारी कारोबार बढ़ा
हमारे संवाददाता
बाजारों में  ग्राहकी की चहल पहल बढती जा रही  है । स्थानीय थोक मंडी म.तु. क्लाथ मार्केट में  त्योहारी थोक कारोबार बढा और आगे भारी तदाद मे ंबढने की संभावना है । म.प्र. का आर्थित व्यापारिक क्षैत्र इंदौर में कारोबार बढने और धन उपजने  से आर्थिक  स्थिति पटरी पर आ रही है । इंदौर वस्त्र व्यापारी संघ की सदस्य फर्म श्री विनोद ब्रदर्स के श्री अनिश  के अनुसार इंदौर के मजबूत वस्त्र उद्योग को मिले चहुंओर आर्डर से  उत्पादन कारोबार पुन: गति पकडने लगा है । रिटेल व्यापारिक क्षैत्रो के अनुसार धीरे -धीरे से संभला कपडा एवं वस्त्र थाक एवं खेरची मार्केट अब पूर्ण रूप से सम्हल गया बताते है और पिछले एक पखवाडे से रिटेल कारोबार में ग्राहकी मांग और आवाजही बहुतायतता बढती जा रही है । बाजार गुलजार है । सभी श्रेणी में  थोक का कामकाज करने वालो के यहा त्योंहारी और लग्नसरा के आर्डर बुक  और कारेबार बढते देखने में आया है । ग्राहकी बढने से मनी रोटेशन गत् हप्ते अच्छा रहा बताते है । सरकार निर्यात प्रोत्साहन पेकेज दे रही है यह कपडा और गारमेंट उद्योग के लिये अच्छी खबर है । कपडा उत्पादन के क्षैत्र मे भारत का इतिहास हमेशा से ही उन्नतशील  देशो के बराबर रहा है और घरेलु आवश्यकताओं की पूर्ति करते हुए भी हमेशा कपडा एवं वस्त्र निर्यात मे भी सदैव बना रहा । देश में कॉटन के भाव ने हांलाकि उद्यााथगो की कमर भी तोड रखी है ।  सरकार को टेक्सटाईल के भविष्य के लिये कॉटन पर निर्यात और भाव को नियंत्रण करना चाहिये जिससे देश के उद्योग पनपते रहे और विदेशी से प्रतिस्पर्धा तगडे रूप में की जा सके । अंतर्राष्टिय स्तर पर जैसे जैसे कपडे की गुणवत्ता बढती जा रही है वैसे वैसे भारत  कपडे मे अपना विकसीत टेक्नालॉजी के माध्यम से विकास करता जा रहा है यहॉ तक की अब तैयार वस्त्रो का भी अंतर्राष्टिय स्तर निर्माण कर निर्यात मे हिस्सेदारी बढाता जा रहा है ।  
ब्रांड कंपनी के कपडो के सभी डीलर्स के यहां दिसावरी बुकिंग जारी है । आयातित कॉटन  और भारतीय उत्पादको का कारोबार मांग बढने से  बढने से कॉटन के भावो में तेजी से यार्न बाजार फाईन क्वॉलिटी  यार्न के भावो में सुधार होता जा रहा बताया जा रहा है । इससे कपडे पर भी भाव बढ रहे बताए जा रहे है । सियाराम्स , ग्रेसीम के उत्पाद , भीलवाडा के सूंटिग शछटिंग  उत्पादो में 400 रू से लेकर 1000 रू प्रतिमीटर में खासी क्वालिटी है । मिक्स ऐण्ड मैच तथा सिंगल कलर का पेकिंग खूबसूरत मार्केटिंग के प्रतीक बनते जा रहे हे । कॉटन में सेंचुरी , आईकोन आशिमा , सियाराम सूटिंग का कामकाज भारी हो रहा है ।  सियाराम सूटिंग का नया फीनिश सभी क्वालिटी में भारी पंसंद किया जा रहा है । भारी व्यापार की मजबूती  ही सियाराम सूटिंग का ग्राहको  में विश्वास होना है । कई रेडिमेड निर्माताओ का मिलों से कपडा खरीदी में सीधा संपर्क कायम है । कई कपडा व्यवसाईयो ने समानातंर रूप से नया रेडिमेड व्यवसाय भी शुरू कर दिया है जैसे कि कार्पोरेट घरानो ने किया है ।  प्योर सूती और लिनन् लुक कपडो के लिये के लिये माहेश्वरी कॉटन जंक्शन  और सेचूरी कपडो के लिये राजेंद्र गंगवाल पर अच्छी  ग्राहकी देखने में आई हे ।   
लेडिज में श्रुति सलवार सूट्स बुकिंग में अग्रणी है । यहां वेडिंग सीजन के फैशन गारमेंट में फूल साईज का डिजाईनर कुर्ता और कफतान सूट्स  की भारी मांग है । कई प्रकार के  पोस्टर डिजाईन के साथ केरी बैग महिलाओ के लिये मार्केटिंग का फंडा बढता जा रहा है । श्रुति सलवार-सूट्स के निर्माता अंकुर सेठी का कहना है कि मार्केटिंग में भारी कांपिटिशन के बावजूद श्रुति के वस्त्रो की 500 रू से लेकर 3000 रू तक के फैशन युक्त डिजाईन की  थोक मांग अधिक है । इंदौर के साथ ही पूरे देश के विभिन्न क्षैत्रो से आर्डर मिलते रहते है । पापलीन का कारोबार करने वले थोक व्यापारियो के अनुसार   पेटिकोट निर्माता आगे त्योहारी सीजन रहने के कारण वे  लगातार उत्पादन मे लग गये है और अपने आर्डर पूरे करने मे लगे बताये गये है । अभी आगे देवउठनी ग्यारस बाद वेडिंग सीजन हेतु मार्केट में कई प्रकार के नये कलेक्शन साडियो में देखने मे आऐ है । इनमें चंदेरी साडियो पर गोल्ड-सिल्वर जरी का भी काम अच्छी मांग में होना बताया जा रहा है । महिलाऐ साडियो और कुर्ता में कई व्यक्तिगत् टच को भी  परखने लगी है और पंसद बताकर व्यापारी महिलाऐ अपने आर्डर निर्माताओ को दे रही है । महिला परिधान कपउथ में अभी के सीजन में सूरत की सिंथेटिक  के अलावा   जोधपुर -जयपुर  की शिफान और सिल्क में  प्रींटेड और चौडी डिजाईन  के अलावा  फलोरोसेंट कलर, केब्रिंक क्वालिटी पर ब्लॉक प्रींटिंग में मांग अधिक है ।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer