मध्य प्रदेश में भारी बारिश : सोयाबीन की फसल प्रभावित

हमारे प्रतिनिधि 
इंदौर। पिछले हफ्ते अत्यअधिक बारिश से मध्य प्रदेश में सोयाबीन की फसल को करीब 10 प्रतिशत नुकसान की आशंका जताई जा रही है। सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन (सोपा) के मुताबिक फसलों में कीट लगने और बीमारी फैलने की शिकायतें आ रही हैं। सोपा ने त्वरित क्षेत्र सर्वेक्षण के आधार पर फसल को नुकसान का अनुमान लगाया है। सोपा के कार्यकारी निदेशक डीएन पाठक के मुताबिक इंदौर, देवास, उज्जौन, धार, सीहोर, हरदा, शाजापुर, मंदसौर और नीमच में फसल को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है। अन्य सोया उत्पादक क्षेत्रों में भी कुछ नुकसान देखा गया। शुरुआती दौर में बोई गई फसल को ज्यादा नुकसान पहुंचा है। कुछ क्षेत्रों में भारी बारिश के बीच धूप के कारण पीले मोजेक वायरस का असर देखा गया। महाराष्ट्र और राजस्थान में अब तक इस वायरस का असर नहीं देखा गया है। सोयाबीन की पत्तियां जल्द पीला होने पर फली आने में देरी और दाने छोटे रहने से फसल की कुल उत्पादकता पर विपरीत असर की आशंका जताई जा रही है। 
इंदौर मंडी में आए मानपुर क्षेत्र के किसान ईश्वर लाल ने बताया कि पिछले सप्ताह अत्यधिक बरसात के बाद निकली धूप से पत्ते पिले होने लगे हैं, जिससे फली का विकास रुक गया है। खेत में अब भी ज्यादा पानी है। इससे फली में दाने कम रहने की आशंका है।

© 2021 Saurashtra Trust

Developed & Maintain by Webpioneer